Tuesday , July 16 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / योगी सरकार के मंत्री ने बताया, तीन राज्यों में क्यों हारी बीजेपी

योगी सरकार के मंत्री ने बताया, तीन राज्यों में क्यों हारी बीजेपी

नई दिल्ली : 

उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर (Om Prakash Rajbhar) ने एक बार फिर मोर्चा खोल दिया है. राजभर ने 29 दिसंबर को गाजीपुर में आयोजित पीएम मोदी के कार्यक्रम के बहिष्कार का ऐलान किया है. योगी आदित्यनाथ सरकार में दिव्यांग जन सशक्तिकरण मंत्री राजभर  (Om Prakash Rajbhar) ने कहा कि वह गाजीपुर से विधायक हैं और राज्य सरकार के अंग हैं. गाजीपुर में इसके पहले भी प्रधानमंत्री मोदी का कार्यक्रम हुआ तथा पूर्वांचल में दौरा हुआ ,लेकिन इन कार्यक्रमों में उनको कभी भी आमंत्रित नहीं किया गया.

लोकसभा चुनाव को लेकर पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि भाजपा से सीट को लेकर समझौता नहीं हुआ तो उनका दल उत्तर प्रदेश में 80 व बिहार की 16 सीट पर अकेले ही चुनाव मैदान में उतरेग. वह अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं.  राजभर ने कहा कि मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ व राजस्थान में भाजपा को एससी/एसटी कानून व लम्बे समय तक सरकार में रहने का खामियाजा भुगतना पड़ा है. आपको बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी का 29 दिसंबर को गाजीपुर में महाराज सुहेलदेव की स्मृति में डाक टिकट जारी करने का कार्यक्रम प्रस्तावित है.

योगी सरकार में मंत्री ओमप्रकाश राजभर बोले- हमें क्यों ढो रहे हैं, हिम्मत हो तो हटा दें
आपको बता दें कि ओम प्रकाश राजभर (Om Prakash Rajbhar) लगातार बीजेपी पर निशाना साधते रहे हैं. पिछले दिनों उन्होंने बुलंदशहर (Bulandshahr) में हुई हिंसा के मामले में विश्व हिंदू परिषद (विहिप) और बजरंग दल को जिम्मेदार ठहराया था. कैबिनेट मंत्री राजभर ने कहा कि ये लोग वोट बैंक के लिए भावना भड़काने का काम कर रहे हैं. इन लोगों के वीडियो सबके सामने है. उन्होंने कहा, “घटना में भाजपा के नेता, बजरंग दल और विहिप के लोग पकड़े गए हैं. जिन तीन लोगों की गिरफ्तारी हुई है, उसमें से एक भाजपा नेता भी है. मैं मुख्यमंत्री से मिलकर कड़ी कार्रवाई की मांग करूंगा”. कैबिनेट मंत्री ने कहा, “बुलंदशहर की घटना  पहले से प्रायोजित थी. दंगा कराने के लिए पहले से योजना बनाई गई थी”.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)