Tuesday , July 16 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / शिवपाल को योगी सरकार दे सकती है जेड सिक्यॉरिटी, अखिलेश के बराबर खड़ा करने की कोशिश?

शिवपाल को योगी सरकार दे सकती है जेड सिक्यॉरिटी, अखिलेश के बराबर खड़ा करने की कोशिश?

लखनऊ
क्या योगी सरकार शिवपाल यादव को अखिलेश यादव के बराबर खड़ा कर नया सियासी दांव चल रही है? सरकार के सूत्रों के हवाले से जो खबर आ रही है वह कुछ इसी ओर इशारा कर रही है। सरकारी सूत्रों की मानें तो जल्द ही शिवपाल को पूर्व सीएम अखिलेश यादव के ही बराबर जेड श्रेणी की सुरक्षा मिल सकती है। समाजवादी पार्टी से अलग होकर शिवपाल ने एक नई पार्टी समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन किया है। शिवपाल 2019 में अपनी पार्टी के बैनर तले कैंडिडेट उतारने की भी तैयारी में हैं। माना जा रहा है कि उनकी यह बगावत अखिलेश और समाजवादी पार्टी को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाएंगी। ऐसे में योगी सरकार की तरफ से शिवपाल को मिलती तवज्जो एक नए तरह के सियासी समीकरण की तरफ भी इशारा कर रही है।

इससे पहले योगी सरकार ने शिवपाल यादव को वही बंगला आवंटित कर दिया जिसमें कभी मायावती रहती थीं। सेक्युलर मोर्चा के सूत्रों के मुताबिक, सरकार से करीबी की वजह से ही उन्हें मायावती का बंगला आवंटित कर दिया गया। अब गृह विभाग के सूत्रों के मुताबिक, सरकार शिवपाल को भी अखिलेश की तरह ‘जेड प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा देने जा रही है। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि कोई नहीं कर रहा है लेकिन सत्ता के गलियारों में यह चर्चा जोरों पर है कि बहुत जल्द शिवपाल भी जेड सुरक्षा श्रेणी के तहत कमांडों से घिरे नजर आएंगे। दरअसल, ऐसा माना जा रहा है कि ऐसा करके सरकार शिवपाल को अखिलेश के बराबर खड़ा कर फायदा लेना चाह रही है।

करीबी IAS अधिकारी का डेप्युटेशन बढ़ा
सूत्रों के मुताबिक, शिवपाल व मुख्यमंत्री के बीच हुई मुलाकात के बाद सरकार ने शिवपाल के करीबी रिश्तेदार आईएएस अधिकारी अजय यादव की डेप्युटेशन अवधि बढ़ाने को मंजूरी दे दी। तभी शिवपाल और सरकार के बीच नजदीकी बढ़ने की बात कही जाने लगी थी।

माया का बंगला भी दिया
इसी बीच शुक्रवार को पूर्व मुख्यमंत्री मायावती को आवंटित लाल बहादुर मार्ग का बंगला नंबर छह शिवपाल को आवंटित कर दिया गया। शिवपाल को भी अखिलेश की तरह ‘जेड प्लस’ की सुरक्षा दिए जाने को लेकर गृह विभाग को संकेत दे दिए गए हैं लेकिन गृह विभाग का कोई अधिकारी इस मुद्दे पर मुंह खोलने को तैयार नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)