Sunday , May 26 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / जेल से बाहर आने पर माला, मिठाई और फायरिंग से आकाश विजयवर्गीय का स्वागत, खड़ा हुआ नया विवाद

जेल से बाहर आने पर माला, मिठाई और फायरिंग से आकाश विजयवर्गीय का स्वागत, खड़ा हुआ नया विवाद

नगर निगम के एक अधिकारी को क्रिकेट के बल्ले से पीटने के कारण गिरफ्तार किए गए इंदौर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक आकाश विजयवगीर्य के रविवार सुबह जमानत पर जेल से बाहर आने पर उनके समर्थकों ने उनका मिठाई, माला से भव्य स्वागत किया। उन्होंने जश्न मनाते हुए हवाई फायरिंग भी की। यही वजह है कि जमानत मिलने के बाद रविवार सुबह जिला जेल से छूटने के बाद स्थानीय भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय सोशल मीडिया पर वायरल हुए फायरिंग के वीडियो के कारण नये विवाद में घिर गये।

विजयवर्गीय के एबी रोड स्थित कार्यालय के सामने कई लोग भाजपा के झंडे हाथ में लेकर ढोल की थाप पर थिरक रहे हैं। इस दौरान एक व्यक्ति बंदूक से लगातार पांच बार हवा में हर्ष फायरिंग करता है।

मीडिया में आई कुछ खबरों में इस वीडियो को शनिवार शाम का बताया जा रहा है जब भोपाल की एक विशेष अदालत ने बल्ला कांड समेत दो मामलों में विजयवर्गीय की जमानत अर्जी मंजूर कर ली थी। क्षेत्र क्रमांक-तीन के भाजपा विधायक आकाश के जिस दफ्तर के सामने हर्ष फायर किये गये वह पार्टी के शहर कार्यालय से सटी वाणिज्यिक इमारत में स्थित है।

बहरहाल, भाजपा ने इस विवाद से पल्ला झाड़ लिया है। भाजपा की शहर इकाई के मीडिया प्रभारी देवकीनंदन तिवारी ने कहा, “विजयवर्गीय के कार्यालय के सामने हर्ष फायर के मामले से भाजपा या भाजपा के किसी भी कार्यकर्ता का कोई संबंध नहीं है।” इस बीच मध्यप्रदेश में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के आधार पर पुलिस से मांग की है कि विजयवर्गीय के कार्यालय के सामने उनके कथित समर्थकों द्वारा की गई हर्ष फायरिंग को लेकर आपराधिक मामला दर्ज किया जाये।

इससे पहले अपने समर्थकों के साथ जेल पहुंचे आकाश के पिता और भाजपा महासचिव कैलाश विजयवगीर्य ने जेल के बाहर उनका स्वागत किया। उन्होंने कैलाश को माला पहनाई और हवाई गोलीबारी करते हुए और रास्ते में आतिशबाजी करते हुए उन्हें घर तक लाए।

घर आने से पहले आकाश भाजपा कायार्लय गए, जहां उन्हें फूल और मिठाइयां भेंट की गई। उन्होंने अपने समर्थकों का धन्यवाद किया और कहा कि उन्होंने जेल में अच्छा समय बिताया। उन्होंने वादा किया कि वे क्षेत्र के लोगों के लिए काम करते रहेंगे। उन्होंने उम्मीद जताई कि उन्हें दोबारा ‘बल्लेबाजी’ करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

इंदौर के एक अन्य विधायक और कैलाश विजयवगीर्य के करीबी विश्वस्त रमेश मैंडोला भी उनकी घर तक की यात्रा में साथ मौजूद रहे।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता नीलाभ शुक्ला ने कहा, “सार्वजनिक स्थान पर जुटी भीड़ के पास इस तरह हवाई फायर करना कानून का सरेआम उल्लंघन है। हमारी मांग है कि इस मामले में पुलिस प्राथमिकी दर्ज करे और आरोपियों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार करे।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)