Friday , May 24 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / उत्तराखंड: शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय के बेटे सहित दो की सड़क हादसे में मौत, एक दोस्त कोमा में

उत्तराखंड: शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय के बेटे सहित दो की सड़क हादसे में मौत, एक दोस्त कोमा में

उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय के छोटे बेटे अंकुर पांडेय की बरेली में हुए सड़क हादसे में मौत हो गई है। अंकुर पांडेय निवासी गूलरभोजपुर थाना गदरपुर जिला ऊधमसिंह नगर 24 साल के थे। वहीं इस हादसे में उनके एक साथी की भी मौत हो गई और एक अन्य कोमा में है। जानकारी के मुताबिक मंगलवार देर रात वह अपने साथी मुन्ना गिरी (28) निवासी बाजपुर जिला ऊधमसिंह नगर और ज्ञानेंद्र के साथ किसी वैवाहिक कार्यक्रम में हिस्सा लेने गोरखपुर जा रहे थे।

गाड़ी अंकुर ही चला रहे थे। नेशनल हाईवे 24 पर ट्रक व वरना गाड़ी में जोरदार भिड़ंत हुई। हादसा फरीदपुर थाना क्षेत्र के रिलायंस पेट्रोल पंप के पास हुआ। इस भीषण हादसे में अंकुर गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। ट्रक चालक गाड़ी छोड़कर मौके से फरार हो गया। पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर ट्रक को अपने कब्जे में ले लिया है। आरोपित चालक की तलाश शुरू कर दी गई है।

उनके साथी मुन्ना की भी मौत

हादसे में अंकुर के साथी मुन्ना की भी मौत हो गई है। अंकुर के शव को उनके निवास गूलरभोज (ऊधमसिंह नगर) लाया गया है। जहां श्रद्धांजलि देने वाले लोग पहुंचने लगे हैं। मृतक अंकुर अविवाहित थे। उनकी मौत के बाद घर पर दुखों का पहाड़ टूट गया।

इधर, बेटे की मौत की सूचना के बाद मंत्री अरविंद पांडेय भी गूलरभोज के लिए रवाना हो गए और सुबह करीब 10 बजे अपने आवास पहुंचे। उनके बड़े बेटे अतुल पांडेय भी आवास पर पहुंच गए हैं। सूचना मिलने के बाद तड़के से ही शोक जताने के लिए आवास पर लोगों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई। बताया गया कि अंकुर पांडेय की अंत्येष्टि गूलरभोज शमशान घाट पर आज की जाएगी। सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत हेलीकॉप्टर से 11 बजे देहरादून से गूलरभोज के लिए रवाना हुए। वहां पहुंचने के बाद उन्होंने अरविंद पांडेय को ढांढस बंधाया। इसके बाद आवास से अंतिम यात्रा निकाली गई। जिसमें भारी संख्या में लोग शामिल हुए। गूलरभोज में मुक्ति धाम स्थित शमशान घाट पर दोपहर करीब साढ़े 12 दिवंगत अंकुर का अंतिम संस्कार किया गया। बड़े भाई अतुल ने मुखाग्नि दी। इस दौरान मुख्यमंत्री, हरीश रावत, समेत कई कैबिनेट मंत्री मौजूद रहे।

एक साथी कोमा में

वहीं अंकुर पांडेय की कार में सवार तीसरा साथी ज्ञानेंद्र अभी कोमा में है। पहले उसे सिद्धि विनायक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बाद में उन्हें मेडिसिटी अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया। वहीं मुन्ना गिरि का पोस्टमार्टम बरेली में ही होगा।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ट्वीट कर अपना दुख व्यक्त किया है। उन्होंने अपनी वॉल पर लिखा है ‘कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडेय जी के पुत्र अंकुर की सड़क हादसे में असमय मृत्यु का बेहद दुःखद समाचार मिला। ईश्वर से कामना करता हूं कि अंकुर की आत्मा को शांति व पांडेय परिवार को इस असहनीय दुःख से उबरने की शक्ति मिले।’

मुख्यमंत्री पहुंचे गूलरभोज

शिक्षामंत्री अरविंद पांडेय को ढांढस बंधाने और स्व. अंकुर पांडेय को श्रद्धांजलि देने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य, पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी गूलरभोज पहुंचे। पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी ने कहा कि कुछ समय से भाजपा का परिवार में संकट का दौर चल रहा है। पिछले 15-20 दिनों में कई लोग मौत के आगोश में समा गए हैं। बीती रात मंत्री के पुत्र की सड़क हादसे में मौत हो गई। जो कि बड़ी कष्टदायी है। भगवान परिवार को दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)