Saturday , April 13 2024
ताज़ा खबर
होम / राज्य / उ.प्र. बजट सत्र के पहले दिन विपक्ष का हंगामा, फेंके कागज के गोले

उ.प्र. बजट सत्र के पहले दिन विपक्ष का हंगामा, फेंके कागज के गोले

सपा-बसपा के विधायकों का व्यवहार निंदनीय :योगी

लखनऊ । उत्तर प्रदेश विधानमंडल के बजट सत्र के पहला दिन की शुरूआत पूर्वानुमान के मुताबिक हंगामेदार ही रही। आज सुबह 11 बजे राज्यपाल ने जैसे ही विधान सभा एवं विधान परिषद के दोनों सदनों को संबोधित सरकार की उपलब्धियों और विकास कार्यों को बताते हुए अभिभाषण पढऩा शुरू किया। वैसे ही दौरान विपक्षी दलों विशेष तौर पर समाजवादी पार्टी व बहुजन समाज पार्टी के विधायकों ने हंगामा करना शुरू कर दिया और नारेबाजी करते हुए कागज़ के गोले फेंके।

यही नहीं कुछ विधायक जूते पहनकर मेज पर भी चढ़ गए। इन सब के बावजूद राज्यपाल नहीं रूके और अपना अभिभाषण पढ़ा। वहीं सदन में हंगामे के दौरान सपा विधायक सुभाष पासी बेहोश हो गए, उन्हें लखनऊ के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया। उधर पश्चिम बंगाल रवाना होने से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सदन को संबोधित किया। साथ ही राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान की अभद्रता की निंदा की।

विधान भवन के सेंट्रल हॉल में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पत्रकारों से कहा कि अभिभाषण के दौरान राज्यपाल के सामने सपा, बसपा और कांग्रेस सदस्यों ने जिस तरह का आचरण किया है वह निंदनीय है। कागज के गोले फेंकना निंदनीय है। इससे यह साफ होता है कि सपा अपने गुंडा गर्दी से बाहर नहीं आ पा रही है। इस तरह के असंवैधानिक और आलोकतांत्रिक प्रदर्शन से संसदीय लोकतंत्र और सदन की गरिमा भंग होती है।

उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों का व्यवहार यह साबित करता है कि विपक्ष का लोक तंत्र पर भरोसा नहीं है। वे संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर करने का प्रयास कर रहे हैं। आज का कृत्य यह साबित करता है कि सपा गुंडागर्दी वाले आचरण से अब भी बाज नहीं आ पा रही है। इनकी कार्यप्रणाली जब सदन में इतनी अराजक, अनुशासनहीन और बर्बर हो सकती है तो सार्वजनिक जीवन में इनका आचरण कैसा होता होगा? राज्यपाल किसी भी दल से हटकर होता है और सबका होता है। किसी को भी ऐसा आचरण नहीं करना चाहिए। राज्यपाल की गरिमा के खिलाफ विपक्ष का कृत्य निदंनीय है। उन्होंने कहा कि राज्यपाल ने सरकार की उपलब्धियो को बताया है। हम उनका स्वागत करते हैं।

इससे पहले विधानसभा में विपक्ष के हंगामे के बीच राज्यपाल का अभिभाषण संपन्न हो गया। समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने उनके ऊपर गोले फेंके। राज्यपाल वापस जाओ के नारे लगाए और सरकार विरोधी नारों से माहौल गर्मा दिया। इस दौरान आज़म खां और रामगोविंद चौधरी मौजूद रहे। विधानसभा में हंगामे के दौरान सपा विधायक सुभाष पासी बेहोश हुए। जल्दी से उन्हें सिविल अस्पताल पहुंचाया गया। हंगामें के चलते विधानसभा को बुधवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित किया गया है।

इससे पहले विधान भवन प्रांगण में चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के नीचे के बाद सपा सदस्य विधानसभा में भी धरना प्रदर्शन किया। सपा के विधायकों-एमएलसी का प्रदर्शन काफी देर तक बाहर चला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)