Friday , April 19 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / लॉकडाउन का ठीक से पालन नहीं कराने पर दिल्ली सरकार के इन चार अधिकारियों पर गिरी गाज

लॉकडाउन का ठीक से पालन नहीं कराने पर दिल्ली सरकार के इन चार अधिकारियों पर गिरी गाज

नई दिल्ली:

दिल्ली में लॉकडाउन का ठीक से पालन नहीं कराने पर दिल्ली सरकार में एडिशनल चीफ सेक्रेटरी (ट्रांसपोर्ट) रेणु शर्मा को तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया गया. इसके साथ-साथ एडिशनल चीफ सेक्रेटरी (होम) सत्य गोपाल को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है. इसके साथ-साथ प्रिंसिपल सेक्रेटरी (फाइनेंस) राजीव वर्मा को भी तुरंत प्रभाव से निलंबित किया गया और सीलमपुर के एसडीएम को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया. सभी कार्रवाई गृह मंत्रालय के आदेश पर हुई है.

गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि केंद्र सरकार ने कोविड-19 को फैलने से रोकने के संबंध में कर्तव्य का पालन करने में लापरवाही के लिए राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली की सरकार के चार अधिकारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की है. उन्होंने बताया कि आपदा प्रबंधन कानून 2005 के तहत गठित राष्ट्रीय कार्यकारी समिति के अध्यक्ष के निर्देशों का सख्ती से पालन सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार ये अधिकारी ऐसा करने में प्रथमदृष्टया असफल रहे. उल्लेखनीय है कि बंद की घोषणा के बाद से दिल्ली से बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूरों का पलायन हुआ है.

बता दें कि कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप के कारण पूरे देश में लॉकडाउन की घोषणा की गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम संबोधन में 21 दिनों तक के लिए लॉकडाउन की घोषणा की है. लॉकडाउन 14 अप्रैल तक प्रभावी रहेगा. हालांकि लॉकडाउन के आदेश के बाद भी दिल्ली में हजारों की संख्या में कामगार और प्रवासी मजदूर अपने-अपने गांवों की ओर लौटने के लिए सड़कों पर उतर गए. जबकि इससे कोरोना फैलने का खतरा बढ़ेगा.

इसे देखते हुए पहले उनके जाने के लिए बसों की व्यवस्था की गई थी, लेकिन बाद में उसे भी बंद कर दिया गया. साथ ही केंद्र ने सभी राज्यों को निर्देश दिए हैं कि जो मजदूर इस दौरान अपने गांव की ओर रवाना हो गए या वहां पहुंच गए उनकी पहचान की जाए. इसके बाद उन्हें 14 दिनों के लिए आइसोलेशन में रखा जाए.

बता दें कि देश में कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या 1000 के पार पहुंच चुकी है, वहीं, 27 लोगों की अबतक मौत हो चुकी है. पूरी दुनिया में इससे 30 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 7 लाख लोग इससे संक्रमित हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)