Saturday , April 20 2024
ताज़ा खबर
होम / मध्य प्रदेश / रफ्तार ने ली जान / मोड़ पर पलटी कार, एयर बैग खुले फिर भी नहीं बची डॉक्टर की जान

रफ्तार ने ली जान / मोड़ पर पलटी कार, एयर बैग खुले फिर भी नहीं बची डॉक्टर की जान

भोपाल

इंटर्नशिप कर रही एमबीबीएस डॉक्टर की बुधवार रात सड़क हादसे में मौत हो गई। सुजुकी की एस-क्रॉस कार उनका रिश्तेदार चला रहा था, जो गंभीर रूप से घायल है। दोनों सीहोर में रिश्तेदार के घर से लौट रहे थे। भौंरी रोड पर बरखेड़ा बोंदर के पास कार मोड़ पर मुड़ न सकी और अनियंत्रित होकर सड़क से नीचे लगे एक साइन बोर्ड से टकराते हुए तीन-चार बार पलट गई। एयर बैग खुले, वे भी डॉक्टर की जान नहीं बचा सके।

मूलत: भरतपुर, राजस्थान निवासी 24 वर्षीय अंकिता पिता अनिल गुप्ता पीपुल्स मेडिकल कॉलेज में इंटर्नशिप कर रही थीं। खजूरी सड़क थाने के एएसआई शेर सिंह ने बताया कि बुधवार शाम छह बजे वे ड्यूटी से हॉस्टल लौटी थीं। कुछ देर बाद वे रिश्तेदार से मिलने सीहोर चली गईं। रात 9 बजे वे रिश्तेदार जयंत अग्रवाल के साथ कार से लौट रहीं थीं।

बरखेड़ा बोंदर के पास अंधे मोड़ पर रफ्तार में होने के कारण कार अनियंत्रित होकर सड़क से नीचे उतर गई और खेत में लगे एक साइन बोर्ड से टकराते हुए पेड़ से जा टकराई। इससे पहले कार करीब 40 फीट तक तीन-चार बार पलटी थी। दर्दनाक हादसे में अंकिता की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि जयंत को गंभीर चोट आई है।

प्रत्यक्षदर्शियों ने पुलिस को बताया कि हादसे के वक्त जयंत ड्राइविंग सीट पर बैठे थे। दोनों ने सीट बेल्ट नहीं लगाई थी। यदि लगाई होती तो अंकिता की जान बच सकती थी। टक्कर के कारण एयर बैग तो खुल गए, लेकिन उसकी जान बचाने में कामयाब नहीं हुए।

घर जाने से पहले गंवाई जान :
दिल्ली निवासी फूफा डॉ. पंकज गर्ग के अनुसार पिता अनिल गुप्ता भरतपुर मेडिकल कॉलेज में पदस्थ हैं। अंकिता की बड़ी बहन डेंटिस्ट हैं, जबकि मां शशि गृहिणी हैं। गुरुवार को उन्हें भरतपुर लौटना था, रिजर्वेशन भी हो चुका था। लेकिन इससे पहले ही हुए हादसे में उन्होंने जान गवां दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)