Saturday , April 20 2024
ताज़ा खबर
होम / मध्य प्रदेश / बिजली की अध‍िकतम मांग ने फिर बनाया नया रिकार्ड

बिजली की अध‍िकतम मांग ने फिर बनाया नया रिकार्ड

जबलपुर। मध्यप्रदेश में आज 4 जनवरी को बिजली की अभी तक की अध‍िकतममांग का नया रिकार्ड बना। एमपी पावर मैनेजमेंट कंपनी के प्रबंध संचालक श्री संजय कुमार शुक्ल ने जानकारी दी क‍िप्रदेश के इतिहास में बिजली की अध‍िकतम मांग 4 जनवरी को प्रातरू 9.15 बजे 13,950 मेगावाट के ऊपर पहुंचीए जिसकी सफलतापूर्वक सप्लाई की गई।राज्य में कहीं भी इतनी अध‍िकतम मांग की सप्लाई में कोई भी व्यवधाननहीं हुआ। श्री शुक्ल ने कहा कि प्रदेश के बिजली इतिहास में नवंबरए दिसंबर और जनवरी माह में बिजली की मांग के नित नए रिकार्ड बनें हैं। बिजली कंपनियों ने हर अध‍िकतम मांग की बेहतर ढंग से सप्लाई की है। राज्य में कहीं भी ट्रांसमिशन व वितरण नेटवर्क प्रभावित नहीं हुआ और सुचारू विद्युत आपूर्ति हो रही है। उन्होने कहा कि‍ हमारी बिजली कंपनियां हर बढ़ी मांग की पूर्ति करने तैयार हैं।

कंपनी के प्रबंध संचालक श्री संजय कुमार शुक्ल ने कहा कि हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है कि शासन के निर्देश अनुसार घरेलू रोशनी उद्योगए व्यवसाय आद‍ि के लिए 24 घंटे बिजलीए के साथ.साथ प्रदेश में किसानों को सिंचाई के लिए 10 घंटे गुणवत्तापूर्ण बिजली की आपूर्ति की जाए। हमारी सभी बिजली कंपनियां इस दिशा में बेहतर ढंग से सफलतापूर्वक कार्य कर रही हैं। अधिकतम मांग की जानकारी न‍िम्न अनुसार है.

माह अध‍िकतम मांग

24दिसंबर 2018   13,640 मेगावाट
25 दिसंबर 2018   13,642 मेगावाट
28 दिसंबर 2018   13,778 मेगावाट
01 जनवरी 2019   13,848मेगावाट
02 जनवरी 2019   13,864 मेगावाट
03 जनवरी 2019   13,802 मेगावाट
04 जनवरी 2019   13,950 मेगावाट के ऊपर

प्रदेश में कैसी रही बिजली की मांग.गुरूवारको प्रातरू 9.15 बजे बिजली की अध‍िकतम मांग के समय मध्यप्रदेश पश्चि‍म क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ;इंदौर व उज्जैन संभागद्ध में बिजली की अध‍िकतम मांग 5ए374 मेगावाटए मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ;भोपाल व ग्वालियर संभागद्ध में 4,719 मेगावाट और मध्यप्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ;जबलपुरए सागर व रीवा संभागद्ध में 3,857 मेगावाट दर्ज हुई।

कृष‍ि क्षेत्र में निरंतर बढ़ रही बिजली की मांग. प्रबंध संचालक श्री संजय कुमार शुक्ल ने बताया कि रबी‍ सीजन में कृष‍िक्षेत्र में 10 घंटे द‍ी जाने वाली गुणवत्तापूर्ण बिजली के करण पूर्व के तीन वर्षों में बिजली की अध‍िकतम मांग का रि‍कॉर्ड दिसंबर माह में रहा हैए किंतु इस वर्ष जनवरी माह में बिजली की मांगका नया र‍िकॉर्ड बना है। प्रदेश की तीनों विद्युत वितरण कंपनियों के क्षेत्र में कृष‍ि कार्य हेतु निरंतर बढ़ रही बिजली की मांग को सजगता से पूर्ण करने के लिएकंपनियां कटिबद्ध हैं।

प्रदेश में 13,950 मेगावाट के ऊपर बिजली की मांग की सफलतापूर्वक बिजली सप्लाई करने में स्टेट लोड डिस्पैच सेंटरए एमपी पावर मैनेजमेंट कंपनी लिमिटेड का कंट्रोल रूम व क्षेत्रीय कार्यालयए पावर जनरेटिंग कंपनी के विद्युत गृहों के साथ मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी व प्रदेश की तीनों विद्युत वितरण कंपनी के कंट्रोल रूम एवं मैदानी अभ‍ियंताओं व कार्मिकों की सराहनीय भूमिका रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)