Sunday , May 26 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर पंजाब सरकार में बढ़ रहा है तनाव, मंत्रियों ने भी साधा निशाना

नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर पंजाब सरकार में बढ़ रहा है तनाव, मंत्रियों ने भी साधा निशाना

नई दिल्ली: 

लोकसभा चुनाव 2019 के आखिरी चरण में पंजाब में वोटिंग ख़त्म होने के बाद कई मंत्रियों ने अपने ही सहयोगी मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की आलोचना की है. इससे पहले रविवार को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सिद्धू के बयानों को अनुशासनहीनता बताया था और आज ब्रह्म मोहिंद्रा, सुखजिंदर रंधावा और तृप्ति राजिंदर बाजवा ने सिद्धू पर हमला किया. उन्होंने सिद्धू के इस ताने पर तीखा एतराज़ किया कि कैप्टन फ्रेंडली मैच खेल रहे हैं. सिद्धू कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार में स्थानीय निकाय मंत्री हैं. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू के बारे में कहा है कि वह अनुशासनहीन हैं और पार्टी का केंद्रीय आलाकमान उन पर फैसला करें. पंजाब में वोटिंग से कुछ दिन पहले ही दिनों सिद्धू और उनकी पत्नी कैप्टन अमरिंदर सिंह पर हमले किए थे. सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू ने लोकसभा चुनाव में टिकट न मिलने के पीछे कैप्टन अमरिंदर को राज्य की एक वरिष्ठ महिला नेता का हाथ बताया था. इस पर जब नवजोत सिंह सिद्धू की प्रतिक्रिया मांगी तो उन्होंने कहा कि उनकी पत्नी झूठ नहीं बोलेंगी. इससे पहले भी सिद्दू और कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच तनातनी की खबरें आती रही हैं लेकिन यह पहला मौका है जब पंजाब के सीएम कैप्टन ने सिद्धू को लेकर ऐसी साफ बात कही हो.

नवजोत सिंह सिद्धू और उनकी पत्नी के बयानों के बीच बोले कैप्टन अमरिंदर पंजाब में कांग्रेस हारी तो मैं सीएम पद से इस्तीफा दे दूंगा

क्या कैप्टन अमरिंदर सिंह ने
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, ‘मैं तो उनको बचपन से जानता हूं. मेरे विचार उससे भिन्न नही हैं. लेकिन शायद वो मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं. लेकिन चुनाव के एक दिन पहले उन्होंने जो किया वह गलत था. इसका असर पार्टी पर पड़ेगा मेरे ऊपर नहीं. कांग्रेस पार्टी अनुशासहीनता में विश्वास नहीं करती है.  मैंने बहुत देखा है, 50 साल हो गए हैं. आलाकमान ऐसी चीजों को स्वीकार नहीं करेगा जो पार्टी को नुकसान पहुंचाए.

पंजाब के सीएम का सिद्धू पर गंभीर आरोप, कहा- मेरी जगह CM बनना चाहते हैं नवजोत, आलाकमान उन पर ले फैसला

क्यों शुरू हुआ नया विवाद
दरअसल सिद्धू अपनी पत्नी के लिए चंडीगढ़ से टिकट चाहते थे, लेकिन आख़िरी समय में कांग्रेस ने वहां से पवन बंसल को टिकट दे दिया. इसके बाद सिद्धू की नाराज़गी साफ़ तौर पर दिखी. देशभर में उन्होंने कांग्रेस के लिए प्रचार किया, लेकिन पंजाब में वो सक्रिय नहीं रहे. हालांकि पहले खबर आई थी कि उनके गले में खराबी है लेकिन बाद में साफ हो गया कि वह अपनी पार्टी से नाराज हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)