Sunday , July 21 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / फन से बन गई बात, मुंबई के युवक को गूगल में मिला 1.2 करोड़ का पैकेज

फन से बन गई बात, मुंबई के युवक को गूगल में मिला 1.2 करोड़ का पैकेज

मुंबई
कई बार फन या यूं कहे शौक के लिए किए गए काम भी इंसान का भाग्य चमका देते हैं। कुछ ऐसा ही मुंबई के एक 21 साल के युवक अब्दुल्ला खान के साथ हुआ। भले ही वह आईआईटी में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण नहीं कर सके लेकिन गूगल में उनको जो सैलरी पैकेज ऑफर हुआ है, उसका सपना हर आईआईटियन देखता है। इस हफ्ते खान को गूगल के लंदन ऑफिस में जॉब का ऑफर मिला है। उनका सैलरी पैकेज 1.2 करोड़ रुपये है। यह पैकेज शहर के गैर आईआईटी इंजिनियरिंग कॉलेज के ग्रैजुएट को मिलने वाले पैकेज से करीब 30 गुना ज्यादा है। आमतौर पर ऐसे छात्रों को 4 लाख रुपये सालाना का पैकेज मिलता है।

श्री एल. आर. तिवारी इंजिनियरिंग कॉलेज, मीरा रोड के छात्र खान को गूगल ने इंटरव्यू के लिए बुलाया था। उनकी प्रोफाइल एक ऐसी साइट पर थी जो प्रोग्रामिंग से संबंधित प्रतियोगिताओं का आयोजन करती है। उस साइट पर उपलब्ध खान की प्रोफाइल गूगल के रिक्रूटर्स को जंच गई और उनका ऑनलाइन इंटरव्यू लिया। इसके बाद खान को इस महीने के शुरू में गूगल के लंदन स्थित कार्यालय में फाइनल स्क्रीनिंग के लिए आने को कहा गया। खान की पढ़ाई की बात करें तो उन्होंने सऊदी अरब में स्कूली पढ़ाई की और 12वीं क्लास के बाद मुंबई आए थे।

पैकेज की डीटेल्स
खान को जो पैकेज मिला है, उसमें से 54.5 लाख रुपये सालाना तो उनकी बेस सैलरी है। इसके अलावा 15 फीसदी बोनस और चार सालों तक के लिए 58.9 लाख रुपये की कीमत का स्टॉक ऑप्शन शामिल है। फिलहाल वह बीई (कंप्यूटर साइंस) के फाइनल इयर में हैं। वह सितंबर में गूगल की साइट रिलायबिलिटी इंजिनियरिंग टीम में शामिल होंगे।

फन से बनी बात
पिछले साल गूगल के एक अधिकारी ने खान को ईमेल किया था। जिसमें उन्होंने जिक्र किया था कि उन्होंने खान की प्रोफाइल प्रोग्रामिंग साइट पर देखी थी और उनको पूरे यूरोप में अलग-अलग जगहों पर भर्तियां करनी है। वहीं खान ने हमारे सहयोगी अखबार टीओआई को बताया कि उनको इतना जबरदस्त पैकेज मिलने की उम्मीद नहीं थी। उन्होंने बताया, ‘मैं फन के तौर पर इस तरह की प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेता था। मुझे तो यह भी पता नहीं था कि कंपनियां इस तरह की वेबसाइटों पर प्रोग्रामरों की प्रोफाइल चेक भी करती हैं। मैंने अपना ईमेल अपने दोस्त को दिखाया। उसने बताया कि कुछ समय पहले उनके एक जानने वाले को भी ऐसा ही मेल आया था। मैं उनकी टीम में शामिल होने का इंतजार कर रहा हूं। यह मेरे लिए सीखने का अद्भुत अनुभव होगा।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)