Sunday , May 26 2024
ताज़ा खबर
होम / लाइफ स्टाइल / रोबोट बना डॉक्टर

रोबोट बना डॉक्टर

आम सभा, भोपाल। भारत में डॉक्टर की संख्या जनसंख्या के अनुरूप बहुत ही कम है एक अध्ययन के अनुसार हमारे देश में लगभग 1800 से 2000 जनसंख्या में एक डॉक्टर उपलब्ध है जबकि यह संख्या अंतराष्ट्रीय मानक के अनुसार लगभग 700 से 800 होनी चाहिये। अमेरिका में यह संख्या लगभग प्रति 1000 व्यक्तियों में 400 है। कुछ देशो जैसे स्पेन, इटली, निदरलेंड इत्यादि में यह संख्या लगभग प्रति 200 व्यक्तियों में एक डॉक्टर उपलब्ध है।

भारत की जनसंख्या के अनुसार आज भारत में लगभग छः लाख (600000) डॉक्टरों की कमी है जिसे पूरा करना बहुत ही कठीन कार्य है। इससे हमारे देश के मरीज को उचित समय पर ईलाज नहीं मिल पाने के कारण अकाल मृत्यु का सामना करना पड़ता है।

जैसे आज जमाना सोशल मीडिया का है जिसमे हर इंसान लगभग अपने सभी परीचित लोगों के साथ मे जुड़ा रह सकता है। इसी प्रकार से एक डॉक्टर भी एक समय मे कई मरीजों के साथ में कंसलटेशन दे सकता है। इसी सिद्धांत पर यह रोबोटिक डॉक्टर का संकल्पना का प्रारंभ हुआ।

रोबोट डॉक्टर भारत में डॉक्टरों की कमी को कुछ हद तक कम कर सकता है। यह उन मरीजों के लिए भी बहुत ही उपयोगी होगा जो किसी कारणवश जैसे दूर के शहरों में रहने के कारण, संसाधनों की कमी होना, इत्यादि कारणों से स्पेषलिस्ट डॉक्टरों की सलाह नहीं ले पाते है। रोबोटों के द्वारा मरीज सीधे-सीधे डॉक्टर से संपर्क कर सकता है और अपनी समस्याओं को बता सकता है।

इसी प्रकार से यह उन डॉक्टरों के लिए भी बहुत ही कारगार रहेगा जो अपने प्रोफेषन में व्यस्त होने के कारण कई मरीजों को समय नहीं दे पाते है, इसके द्वारा डॉक्टर भी अपने से दूर किसी अन्य शहर में उपस्थित मरीजों से सीधे संपर्क कर उनका इलाज कर सकता है।

यह रोबोट एक तरहसे एक मीडिया है जिसमें डॉक्टर अपने एक प्रतिरूप (रोबोट) को कई जगहों पर रख सकता है और उसके द्वारा वह मरीजों से सीधा संपर्क कर सकता है, उनसे बात कर सकता है एवं मरीज की कुछ जांचे भी कर सकता है।

जैसे – अगर डॉक्टर अपने ओपीडी में मरीज देख रहा हो इस समय पर अचानक कोई मरीज आई.सी.यू. में या किसी अन्य अस्पताल या अन्य शहरों मे सलाह लेना चाहता है तो वह रोबोट उस मरीज के पास जायेगा एवं मरीज की पल्स, ब्लड-प्रेशर, ऑक्सीजन की मात्रा इत्यादि सभी जांचे करके आपको सीधे-सीधे मरीज के साथ संपर्क करता है। डॉक्टर मरीज से बात करता है, मरीज डॉक्टर को अपनी समस्याएं बताता है एवं मरीज की जांच के अनुसार डॉक्टर रोबोट की मदद से मरीज का इलाज भी कर सकता है।

आगे आने वाले समय मे यह रोबोट किसी अन्य प्रकार से भी डॉक्टर के द्वारा मरीज की चिकित्सा मे महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है और भारत में डॉक्टरों की कमी को भी पूरा करने में मदद कर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)