Monday , June 24 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / नवजोत सिद्धू ने सर्जिकल स्‍ट्राइक2 पर उठाया सवाल तो अमरिंदर ने दिया ऐसा करारा जवाब

नवजोत सिद्धू ने सर्जिकल स्‍ट्राइक2 पर उठाया सवाल तो अमरिंदर ने दिया ऐसा करारा जवाब

चंडीगढ़।

पंजाब के कैप्‍टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिद्धू अब सर्जिकल स्‍ट्राइक2 पर आमने-सामने आ गए हैं। सिद्धू ने सर्जिकल स्‍ट्राइक2 पर सवाल उठाया तो कैप्‍टन अमरिंदर ने इसका करारा जवाब दिया। सिद्धू ने पूछा कि 300 आतंकी मारे या पेड़, तो कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि आतंकी मारा हो या 100, एयर स्ट्राइक ने पाकिस्तान को कड़ा सबक और संदेश दिया।

अब तक पाकिस्‍तान से शांति की बात कर रहे नवजोत सिंह सिद्धू ने सोमवार को वायुसेना द्वारा की गई सर्जिकल स्‍टाइक 2 पर सवाल उठा दिया। सिद्धू ने ट्वीट कर पूछा कि 300 आतंकी खत्‍म हुए या पेड़। इसके बाद पंजाब के मुख्‍यमंत्री अमरिंदर ने इसका जवाब दिया। कैप्‍टन कहा कि चाहे एक आतंकी मरा या 100, लेकिन पाकिस्‍तान को स्‍पष्‍ट संकेत गया। इससे पहले भी कैप्‍टन आैर सिद्धू के मतभेद सामने आते रहे हैं।

नवजोत सिंह सिद्धू ने ट्वीट कर कहा, सेना का राजनीतिकरण बंद करें

सोमवार को नवजोत सिंह सिद्धू ने एक ट्वीट कर भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्‍तान के बालाकोट में किए गए सर्जिकल स्‍ट्राइक2 पर सवाल उठाया। उन्‍होंने ट्वीट में लिखा, ‘ 300 आतंकी मरे, हां या नहीं?, फिर इसका उद्देश्‍य क्‍या था? आप ने आतंकवादी खत्‍म किए या पेड़? क्‍या यह चुनावी हथकंडा था? यह विदेशी शत्रु से लड़ने की आड़ में अपनी धरती से छल हो रहा है। सेना का राजनीतिकरण बंद करें या देश की तरह पवित्र है।’  सिद्धू के इस ट्वीट के बात लोग तीखी प्रतिक्रिया दे रहे हैं और वह ट्राेल हो रहे हैं।

इसके बाद  कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने अपने मंत्री सिद्धू का जिक्र किए बिना उनको जवाब दिया। कैप्‍टन ने वायुसेना के सर्जिकल स्‍ट्राइक2 पर सवाल उठाने वाले अन्‍य लोगों को भी करारा जवाब दिया। कैप्‍टन अमरिेंदर ने अमृतसर में पत्रकारों से बातचीत में कहा, भारतीय वायुसेना की स्ट्राइक से चाहे एक आतंकवादी मरा हो या 100, लेकिन पाकिस्तान तक स्पष्ट संदेश पहुंच चुका है कि भारत अब अपने सैनिकों और नागरिकों की हत्या करने वालों बख्शेगा नहीं।

मुख्यमंत्री ने यहां पत्रकारों से एक अनौपचारिक बातचीत में कहा कि भारतीय वायुसेना की स्ट्राइक ने पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत के आतंकवाद की समस्या से निपटने के संकल्प को जगजाहिर किया है। हालांकि उन्होंने हमले में मारे गए आतंकवादियों की संख्या पर टिप्पणी करने से इनकार करते हुए कहा कि चाहे एक मरा हो या 100, संदेश एकदम स्पष्ट है कि भारत अब अपने बेगुनाह जवानों और नागरिकों की हत्या करने वालों को दंडित किए बिना नहीं छोड़ेगा।

कैप्‍टन बोले- पाकिस्तान की आर्थिक हालत बहुत खराब, दुनिया भर में भीख का कटोरा लेकर घूम रहा

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की आर्थिक हालत बहुत खराब है और वह दुनिया भर में भीख का कटोरा लेकर घूमते हुए इस्लामिक देशों की दरियादिली पर टिका हुआ है। कैप्टन ने कहा कि पाकिस्तान की हालत ऐसी नहीं है कि भारत के साथ खुल्लम-खुल्ला युद्ध कर सके। हालांकि मुख्यमंत्री ने चेतावनी भी दि कि खुद को घिरा पाकर पाकिस्तान हताशा में परमाणु हथियारों का भी प्रयोग करने से नहीं हिचकेगा। कैप्टन ने इस दौरान यह भी कहा कि चूंकि दोनों देश परमाणु हथियारों से संपन्न हैं, इसलिए सामूहिक विनाश के हथियारों का उपयोग करना दोनों देशों के हित में नहीं है।

बता दें कि इससे पहले 14 फरवरी को पुलवामा में आंतकी हमले में सीआरपीएफ के 44 जवानों के मारे जाने के बाद कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने पाकिस्‍तान पर निशाना साधा था। कैप्‍टन अमरिंदर सिंह इसके लिए पाकिस्‍तान को जिम्‍मेदार बताते हुए उसके खिलाफ कड़े एक्‍शन की केंद्र सरकार से मांग की थी। उन्‍होंने भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्‍तान के बालाकोट में की गई कार्रवाई का खुलकर समर्थन किया था।

दूसरी ओर, इसके तुरंत बाद नवजो‍त सिंह सिद्धू ने पाकिस्‍तान को पुलवामा हमले के लिए पाकिस्‍तान को क्‍लीनचिट दी और शांति राग छेड़ा। उन्‍होंने कहा कि कुछ लोगों की हरकत के लिए किसी देश या समुदाय को दोषी नहीं ठहराया जा सकता। इस बयान का देशभर में विरोध के बावजूद सिद्धू इस पर कायम रहे। उन्‍होंने विंग कमांडर अभिनंदन के मामले पर भी विवादित बयान दे दिया।

सिद्धू ने रविवार को अमृतसर में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि यदि शांति बहाल नहीं हुई तो अभिनंदन जैसी घटनाएं फिर हाे सकती हैं। भारत मां का कोई भी बेटा अपनों से नहीं बिछड़ना चाहिए। अगर यह स्थिति अौर गहराती है तो कई इस तरह की अन्य घटनाएं सामने अा सकती हैं। क्षति के साथ साथ दोनों देश उस राह पर अागे बढ जाएंगे जहां से वापस लौटना मुश्किल हो जाएगा।

इससे पहले भी नवजोत सिंह सिद्धू कई बार अपने मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के रुख के विपरीत बातें करते रहे हैं। सिद्धू के पाकिस्‍तान जाने अौर वहां पाकिस्‍तानी सेना के प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा से गले मिलने पर भी कैप्‍टन अमरिंदर ने नाराजगी जताई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)