Thursday , June 20 2024
ताज़ा खबर
होम / मध्य प्रदेश / लॉकडाउन का सभी जिलों में हो सख्ती से पालन : मुख्यमंत्री श्री चौहान

लॉकडाउन का सभी जिलों में हो सख्ती से पालन : मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री ने कोरोना व्यवस्थाओं पर ली उच्च अधिकारियों की बैठक

आम सभा, भोपाल : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना का कम्युनिटी स्प्रेड रोकने के लिए यह आवश्यक है कि लॉक डाउन का कड़ाई से पालन सुनिश्चित हो। सभी कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक अपने जिलों में लॉकडाउन का सख्ती से पालन किया जाना सुनिश्चित करें। कोरोना संबंधी कार्य में लगे अमले के कार्य में बाधा उत्पन्न करना तथा कोरोना को छुपाना दंडनीय अपराध है। चाहे वह व्यक्ति किसी भी वर्ग अथवा समुदाय का हो, उसके विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी। नर्स, डॉक्टर आदि के आवागमन के लिए वाहनों की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। प्रदेश के सभी सरकारी अस्पतालों में वर्तमान में लिया जाने वाला ओपीडी शुल्क आगामी आदेश तक नहीं लिया जाए। सभी सरकारी अस्पतालों में ओपीडी चालू रहे तथा मरीजों को सामान्य इलाज की सुविधा निरंतर मिलती रहे। मुख्यमंत्री श्री चौहान प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की उच्चाधिकारियों के साथ मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से समीक्षा कर रहे थे।

प्रमुख सचिव श्रीमती गोविल के हौसले को सलाम

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्रीमती पल्लवी जैन गोविल के हौसले को सलाम करते हुए कहा कि आप जैसे अधिकारियों के सहयोग से हम प्रदेश से शीघ्र ही कोरोना को पूरी तरह समाप्त कर देंगे। मुख्यमंत्री ने श्रीमती गोविल को आराम करने की सलाह दी, परंतु उन्होंने कहा कि वे एकदम ठीक हैं तथा उन्हें कोई परेशानी नहीं है। श्रीमती गोविल ने कोरोना की अद्यतन स्थिति से मुख्यमंत्री को अवगत कराया।

टेस्टिंग किट्स, दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता

मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस ने मुख्यमंत्री को बताया कि प्रदेश में कोरोना किट्स, पीपीई किट्स, दवाओं आदि की पर्याप्त उपलब्धता है। अभी हमारी कोरोना की टेस्टिंग क्षमता 500 है। आगामी 3 से 7 दिन में हम इसे बढ़ाकर 1000 तक पहुंचा देंगे। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि मुरैना, छिंदवाड़ा आदि में में जो कोरोना संक्रमित भर्ती हैं, उन्हें आवश्यकता हो, तो ग्वालियर या जबलपुर के मेडिकल कॉलेज के अस्पताल में शिफ्ट किया जा सकता है।

बाहर से आने वाले श्रमिकों की संख्या में आई कमी

अपर मुख्य सचिव मनोज श्रीवास्तव ने बताया कि प्रदेश में वापस लौटने वाले श्रमिकों की संख्या अब काफी कम हो गई है। उनमें से 19083 का स्वास्थ्य परीक्षण कराया जा चुका है। इनके लिए भोजन, खाद्यान्न आदि की निरंतर व्यवस्था की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)