Saturday , July 13 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / पित्रोदा के बयान पर जंग, मोदी बोले- राजीव ने भी कहा था कि बड़ा पेड़ गिरता है तो धरती हिलती है

पित्रोदा के बयान पर जंग, मोदी बोले- राजीव ने भी कहा था कि बड़ा पेड़ गिरता है तो धरती हिलती है

नई दिल्ली
लोकसभा चुनाव के आखिरी दो चरणों से पहले 1984 के सिख दंगों को लेकर कांग्रेस पर लगातार हमलवार बीजेपी को कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा के विवादित बयान से नया हथियार मिल गया है। शुक्रवार को पीएम मोदी ने जहां रोहतक रैली में पित्रोदा के बयान से सिख दंगों पर कांग्रेस को घेरा, तो वहीं दिल्ली में बीजेपी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के 12 तुलगक लेन स्थित निवास पर हल्ला बोलकर प्रदर्शन किया। पीएम मोदी ने सिख दंगों पर पूर्व पीएम राजीव गांधी के दिए गए बयान से भी पार्टी को निशाने पर लिया। बता दें कि पित्रोदा ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था कि 1984 दंगों में जो हुआ सो हुआ, लेकिन मोदी सरकार को बताना चाहिए कि उसने पांच सालों में क्या काम किए हैं। पित्रोदा ने हालांकि आज स्वर्ण मंदिर की तस्वीर ट्वीट कर डैमेज कंट्रोल की कोशिश की, लेकिन मामला शांत होता नहीं दिख रहा है।

‘जब बड़ा पेड़ गिरता है तो जमीन हिलती है’
पीएम मोदी ने कहा, ‘इससे कांग्रेस की मानसिकता का पता चलता है। वे सालों तक ऐसा कर चुके हैं। राजीव गांधी ने कहा था कि जब एक बड़ा पेड़ गिरता है तो धरती हिलती है।’ पीएम ने कहा कि कांग्रेस ने कमलनाथ को पंजाब का प्रभारी बना दिया था और अब उन्हें मध्य प्रदेश का सीएम बना दिया। यह किसी एक शख्स का बयान नहीं है।

मोदी ने चुनावी रैली में पित्रोदा के बयान का जिक्र कर कांग्रेस को घेरा
हरियाणा के रोहतक में एक जनसभा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंडियन ओवरसीज कांग्रेस (आईओसी) प्रमुख सैम पित्रोदा के 1984 दंगों पर दिए गए बयान पर जमकर हमला किया। पीएम मोदी ने कहा कि इनके लिए जीवन की कोई कीमत नहीं है। इनके ये तीन शब्द कांग्रेस के चरित्र को दर्शाते हैं। पीएम मोदी ने कहा, ‘देश पर सबसे ज्यादा समय तक राज करने वाली कांग्रेस कितनी असंवेदनशील रही है, उसका प्रतीक है कल बोले गए तीन शब्द, ये (शब्द) ऐसे नहीं निकले हैं। ये शब्द कांग्रेस का चरित्र हैं, कांग्रेस की मानसिकता हैं, कांग्रेस के इरादे हैं। वे तीन शब्द कौन से हैं, ‘हुआ तो हुआ।’ आप सोचेंगे कि मोदीजी क्या बोल रहे हैं, मैं विस्तार में बताता हूं। कांग्रेस का अहंकार, कांग्रेस को चलाने वालों का अहंकार इन्हीं तीन शब्दों में हम भलीभांति समझ सकते हैं…हुआ तो हुआ।’

जनसभा के दौरान नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘कल कांग्रेस के सबसे बड़े नेताओं में से एक ने चीख-चीखकर 1984 के दंगों के बारे में कहा कि चौरासी का दंगा हुआ तो हुआ। आपको पता है कि यह नेता कौन है। यह नेता गांधी परिवार का सबसे करीबी है, गांधी परिवार के सारे लोग के साथ हर रोज बैठना-उठना है। यह नेता गांधी परिवार का सबसे बड़ा राजदार है। यह नेता राजीव गांधी के बहुत अच्छे दोस्त और आज के जो कांग्रेस के नामदार अध्यक्ष (राहुल गांधी) हैं, उनके गुरु हैं। इन्होंने कल टीवी के सामने साफ-साफ बोल दिया कि अगर चौरासी हुआ तो…हुआ तो हुआ।’

इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष सैम पित्रोदा ने गुरुवार को सिख दंगे से जुड़े एक सवाल का जवाब देते हुए एक विवादित बयान दिया। पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा दिल्ली के रामलीला मैदान में कांग्रेस पर सिख दंगे को लेकर निशाना साधने के बाद सैम पित्रोदा ने गुरुवार को प्रधानमंत्री की आलोचना की। इस दौरान एक सवाल के जवाब में पीएम पर टिप्पणी करते हुए पित्रोदा ने कहा- अब क्या है 84 का? आपने क्या किया पांच साल में उसकी बात करिए। 84 में जो हुआ वो हुआ, आपने क्या किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)