Thursday , May 23 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / चुनाव-बाद पहली रैली में बरसीं सोनिया गांधी, “मर्यादा की सभी सीमाएं लांघी गईं…”

चुनाव-बाद पहली रैली में बरसीं सोनिया गांधी, “मर्यादा की सभी सीमाएं लांघी गईं…”

नई दिल्ली: 

कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष तथा मौजूदा अध्यक्ष राहुल गांधी की मां सोनिया गांधी ने अपने संसदीय क्षेत्र रायबरेली में बुधवार को आयोजित की गई रैली में BJP पर ज़ोरदार हमला बोला और कहा कि सत्तासीन दल ने सत्ता में बने रहने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पद पर बनाए रखने के लिए ‘मर्यादा की सभी सीमाएं’ पार कर लीं. पिछले माह घोषित हुए चुनाव परिणाम के बाद अपनी पहली जनसभा में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (UPA) की अध्यक्ष ने चुनाव के दौरान कुछ पार्टियों द्वारा अपनाए गए चुनावी हथकंडों की आलोचना की और दावा किया कि देश की चुनावी प्रक्रिया पर ‘कई तरह के संदेह’ पैदा हो गए हैं.

दिल्ली में बढ़ा ऑटो-रिक्शा का किराया, अब हर एक किलोमीटर पर देने होंगे इतने रुपए

उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से कांग्रेस द्वारा जीती गई एकमात्र सीट पर मतदाताओं का आभार व्यक्त करने पहुंचीं सोनिया गांधी ने कहा, “मतदाताओं को लुभाने के लिए हर तरह की तरकीबें अपनाई गईं… देश में सभी जानते हैं कि चुनाव में जो कुछ भी हुआ, वह नैतिक था या अनैतिक…”

लोकसभा चुनाव 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने पहले से भी बेहतर जनादेश हासिल किया, और पार्टी ने अपने बूते पहली बार 300 सीटों का आंकड़ा पार कर लिया. BJP ने 303 सीटों पर जीत पाई, और उनके राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) को 352 संसदीय क्षेत्रों में विजयश्री प्राप्त हुई. दूसरी ओर, कांग्रेस देशभर में कुल 53 सीटों पर जीती, तथा 18 राज्य व केंद्रशासित प्रदेश ऐसे रहे, जहां उसका सूपड़ा साफ हो गया.

फेसबुक पर मुख्यमंत्री के खिलाफ अभद्र टिप्पणी का आरोप, कांग्रेस कार्यकर्ता के शिकायत पर युवक गिरफ्तार

चुनाव प्रचार के दौरान अपनाए गए कुछ तरीकों को लेकर BJP को आलोचनाओं का सामना भी करना पड़ा, जिनमें पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले तथा उसके बाद पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकवादी शिविर पर भारतीय वायुसेना द्वारा किए गए हवाई हमले का ज़िक्र किया जाना शामिल है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देश की सेना को ‘मोदी जी की सेना’ कहा, जिसकी वजह से विपक्षी नेताओं की निंदा उन्हें झेलनी पड़ी.

सोनिया गांधी ने कहा, “मैं समझती हूं कि यह सबसे बड़ा दुर्भाग्य है कि सत्ता को बनाए रखने के लिए मर्यादा सी सीमाएं लांघी गईं…” UPA अध्यक्ष ने चुनावी प्रक्रिया की निष्पक्षता पर भी सवाल खड़े किए, और कहा, “पिछले कुछ सालों में हमारी चुनावी प्रक्रिया को लेकर कई तरह के संदेह उभर आए हैं…”

रायबरेली के इस दौरे में सोनिया गांधी की पुत्री तथा कांग्रेस महासचिव (पूर्वी उत्तर प्रदेश) प्रियंका गांधी वाड्रा भी उनके साथ थीं, जिन्होंने पार्टी की चौतरफा हार के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं को ज़िम्मेदार ठहराया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)