Monday , June 17 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / एग्जिट पोल जैसा परिणाम आया तो करेंगे प्रदेशव्यापी आंदोलन : दामोदर यादव

एग्जिट पोल जैसा परिणाम आया तो करेंगे प्रदेशव्यापी आंदोलन : दामोदर यादव

* ज़िला मुख्यालयों पर करेंगे चुनाव आयोग के पुतले दहन और धरना प्रदर्शन

* आन्दोलन की शुरुआत भोपाल एवं दतिया से 5 जून से की जायेगी

आम सभा, भोपाल।

विगत 10 सालों में आम चुनाव के परिणामों से ठीक 2-3 दिन पहले सभी सर्वे एजेंसियाँ बड़े मीडिया हाउसेस से मिलकर जान-बूझकर एग्जिट पोल के ऐसे आँकड़े प्रस्तुत करती हैं जिससे सत्ताधारी भाजपा के लिये आम मतदाता भी मानसिक रूप से तैयार हो सके और फिर चुनाव आयोग व आयोग का असली खेल शुरू होता है।आयोग भाजपा की एक शाखा की तरह काम करता है और जनता में कितनी भी भाजपा विरोधी लहर हो लेकिन सरकार उसी की बनाता है और काँग्रेस सहित सभी विपक्षी दल भी हाथ पर हाथ रखकर बैठे रहते हैं। लेकिन हर बार की तरह इस बार भी जनादेश को लूटने की कोशिश हुई या फिर नकली जनादेश प्रस्तुत किया गया तो हम पूरे प्रदेश में आंदोलन कर चुनाव आयोग के सभी जिला मुख्यालयों पर पुतला दहन एवं धरना प्रदर्शन करेंगे और किसी भी सूरत में नकली जनादेश को स्वीकार नहीं किया जाएगा। उक्त बात पूर्व काँग्रेस उपाध्यक्ष,ओबीसी फ्रंट प्रमुख तथा यादव महासभा के राष्ट्रीय महासचिव दामोदर सिंह यादव ने भोपाल में पत्रकार वार्ता में कही।
यादव ने कहा कि मैंने 2023 का विधानसभा चुनाव दतिया ज़िले की सेंवढ़ा सीट से काँग्रेस को ठोकर मारकर लड़ा एवं बिना पार्टी के 30 हज़ार वोट प्राप्त किए और सिर्फ 12 हजार वोट से भाजपा से चुनाव हारा जबकि काँग्रेस के अनेकों बड़े नेता 35-40 हज़ार वोटों से चुनाव पार्टी के टिकट के बावजूद हारे और वही नेता अब काँग्रेस में बड़े पदों पर बैठे हैं। मेरी जिम्मेदारी लोकतंत्र और संविधान को बचाने की भी हैं और 30 हजार मतदाताओं के प्रति मेरी जवाबदेही भी है इसलिए मैं काँग्रेस की तरह तमाशगीन बनकर नहीं बैठ सकता। कल सभी न्यूज़ चैनलों पर आये एग्जिट पोल्स में मध्यप्रदेश में भाजपा को 28-29 सीटें मिलती दिखाई गई हैं जबकि मुझे पुख्ता जानकारी है कि 6 सीटों पर भाजपा की हार तय है और 4-5 सीटों पर कड़ी टक्कर होने जा रही है। जिस प्रकार 2019 के लोकसभा चुनाव में एग्जिट पोल सही सबित हुये थे उसी प्रकार 2023 में भी सही होने की आशंका के चलते मैंने संविधान एवं लोकतंत्र बचाओ अभियान की शुरुआत कर दी है जिसके अंतर्गत ओबीसी फ्रंट मध्यप्रदेश के तत्वावधान में 5 जून 2024 से आंदोलनों की श्रृंखला संपूर्ण प्रदेश में चलाई जाएगी जिसकी शुरुआत भोपाल में चुनाव आयोग का पुतला दहन करके और दतिया में चुनाव आयोग के साथ-साथ प्रधानमंत्री, केंद्रीय ग्रह मंत्री के पुतले दहन की भी योजना बनाई गई है।
इस बार का चुनाव मोदी वर्सेस जनता था जिसका लाभ निठल्ली काँग्रेस को मिलने जा रहा है और वह बैठे बिठाये प्रदेश की 10 सीटों पर टक्कर करके 6-7 सीट जीतने जा रही है। अगर चुनाव आयोग मोदी सरकार से साँठ-गाँठ करके असली जनादेश को बदलकर नकली जनादेश प्रस्तुत करती है तो हम दतिया भोपाल के पश्चात उन सीटों पर पहले आंदोलन चलायेंगे जिन पर भाजपा की हार और संयोग से काँग्रेस की जीत स्पष्ट दिखाई दे रही है जिनमें मुरैना, भिंड, ग्वालियर, राजगढ़, मण्डला, छिन्दवाड़ा, रतलाम, सतना, सीधी और खरगोन मुख्य रूप से शामिल हैं।