Saturday , May 25 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / मैं आम आदमी के साथ और सत्तारूढ़ पार्टी अमीरों के साथ: कन्हैया

मैं आम आदमी के साथ और सत्तारूढ़ पार्टी अमीरों के साथ: कन्हैया

बेगूसराय
बिहार के बेगूसराय से सीपीआई उम्मीदवार कन्हैया कुमार ने सोमवार को विश्वास जताते हुए कहा कि वह चुनावी दंगल में बीजेपी और आरजेडी के उम्मीदवार के मुकाबले जीत हासिल कर लेंगे। उन्होंने कहा कि बेगूसराय की जनता दिल से वोट करेगी न कि दल से।

बचपन में जिन सरकारी सेकंडरी स्कूल में कन्हैया ने पढ़ाई की थी, उसी स्कूल में आज मतदान केंद्र बनाया गया था। मतदान केंद्र के अंदर लाइन में खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार करते हुए जेएनयू छात्र यूनियन के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया ने कहा कि वह एक नई भूमिका के लिए बेहद उत्साहित थे।

32 साल के कन्हैया कुमार 3 साल पहले उस वक्त सुर्खियों में आ गए थे जब दिल्ली में उनके खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज हुआ। कन्हैया का मुकाबला बेगूसराय में केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता गिरिराज सिंह और आरजेडी के वरिष्ठ नेता तनवीर हसन से है

लेफ्ट प्रत्याशी ने कहा, ‘बेगूसराय में दिल से वोटिंग होगी न कि दल से, मुझे क्षेत्र के लोगों से बेहद असाधारण समर्थन मिला है। यहां जो सत्ता में लोग हैं वे अमीर और ताकतवर लोगों के साथ हैं, जबकि मैं आम नागरिकों के लिए खड़ा हूं क्योंकि मैं भी उनमें से ही एक हूं।’

अपने प्रतिद्वन्दियों की तरफ से खुद पर एक विकट उम्मीदवार की मदद करने के लिए ‘बी टीम’ के तौर पर पेश होने के आरोपों पर कन्हैया ने जवाब दिया, ‘एक बॉलिवुड गाना है- कुछ तो लोग कहेंगे, लोगों का काम है कहना। लोग हर तरह की बात कह सकते हैं। इन सभी अफवाहों पर परिणाम आने के साथ ही लगाम लग जाएगी।’

इसबीच पांच साल पहले रनरअप रहने वाले आरजेडी उम्मीदवार तनवीर हसन ने सीपीआई उम्मीदवार और उनके समर्थनों पर ‘झूठे प्रचार’ के लिए निशाना साधा। ऐसी खबरें आईं थीं कि हसन ने आखिरी समय में कन्हैया का समर्थन करने की अपील जारी की है।

ट्विटर पर आरजेडी उम्मीदवार ने कई लेफ्ट समर्थकों के इस तरह के बयानों को खारिज कर दिया और कहा कि वह एक ‘गंभीर प्रत्याशी’ के तौर पर चुनाव लड़ रहे हैं। बता दें कि आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव द्वारा शुरुआत में कन्हैया कुमार का समर्थन करने की खबरें आईं थीं लेकिन उन्होंने अपने छोटे बेटे और राजनीतिक उत्तराधिकारी तेजस्वी यादव का साथ देने का फैसला किया।

पिछले हफ्ते ही सीपीआई जनरल सेक्रेटरी सुधाकर रेड्डी ने लालू यादव से अपील की थी कि तनवीर हसन को चुनाव से ‘हट जाना’ चाहिए और लेफ्ट उम्मीदवार कन्हैया की मदद करनी चाहिए। हालांकि, आरजेडी के उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने इस अनुरोध को खारिज कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)