Wednesday , April 24 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / सपा राज में पहली बार किसी IAS ने विदेश से ऑनलाइन चार्ज लिया था, जानें- कौन हैं चंद्रकला

सपा राज में पहली बार किसी IAS ने विदेश से ऑनलाइन चार्ज लिया था, जानें- कौन हैं चंद्रकला

नई दिल्ली।

उत्तर प्रदेश की IAS अधिकारी बी चंद्रकला को देश की सबसे चर्चित आइएएस अधिकारी भी कहा जाता है। सूबे मे सत्ता चाहे सपा की रही या बसपा, आईएएस बी चंद्रकला अपनी शोहरत और छवि की वजह से हमेशा महत्वपूर्ण पदों पर रहीं। सोशल मीडिया पर उनकी फोटो या पोस्ट लाइक करने का मामला हो या फिर सरेआम अधिकारियों को फटकार लगाते उनके वीडियो, लोगों ने बी चंद्रकला के हर अंदाज को जमकर सराहा। सोशल मीडिया पर उनकी पोस्ट और वीडियो तुरंत वायरल हो जाती है।

15 अक्टूबर 2015 को आईएएस अधिकारी बी चंद्रकला का ट्रांसफर डीएम मथुरा से डीएम बुलंदशहर के पद पर हुआ था। उस दौरान बी चंद्रकला दुबई में छुट्टियां मना रहीं थीं। छुट्टी पर जाने के दो दिन बाद ही यूपी शासन ने ट्रांसफर आदेश जारी कर दिया। साथ ही तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने निर्देशा जारी किया था कि सभी अधिकारी आदेश जारी होने की रात ही अपना चार्ज संभाल लें। मतलब हर हाल में बी चंद्रकला को दुबई में रहते हुए भी उसी रात बुलंदशहर डीएम का चार्ज लेना था। लिहाजा उन्होंने फैक्स और ईमेल के जरिए चार्ज ले लिया था। माना जाता है कि विदेश में रहते हुए इस तरह से किसी जिले के डीएम का चार्ज लेनी वाली बी चंद्रकला पहली आईएएस अधिकारी हैं।

शादी के बाद बनीं आईएएस
बी चंद्रकला का जन्म तेलंगाना के करीमगनर जिले में हुआ था। वह 2008 बैच की यूपी कैडर की आइएएस अधिकारी हैं। उन्होंने केंद्रीय विद्यालय से 12वीं की परीक्षा पास की। इसके बाद हैदराबाद के कोटि महिला कॉलेज से स्नातक की पढ़ाई की। इसके बाद ही उनकी शादी हो गई। शादी के बाद उन्होंने डिस्टेंस एजुकेशन से अर्थशास्त्र में पोस्ट ग्रेजुएशन किया। इसके बाद पति के सपोर्ट से उन्होंने यूपीएससी परीक्षा की तैयारी शुरू की। यूपीएससी परीक्षा में उनकी 409वीं रैंक थी। बताया जाता है कि बी चंद्रकला के आईएएस बनने में उनके पति का भी महत्वपूर्ण योगदान है। उनकी 10-12 साल की एक बेटी भी है।

अखिलेश यादव व केजरीवाल को भी पछाड़ा
सोशल मीडिया पर आईएएस अधिकारी बी चंद्रकला की लोकप्रियता एक समय पर इतनी बढ़ गई थी कि कई बार उनकी तुलना यूपी के तत्कालीन सीएम अखिलेश यादव और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल से भी की गई। यूपी और दिल्ली के सीएण ही नहीं सोशल मीडिया पर उन्होंने कई सेलेब्रिटीज को भी पीछे छोड़ दिया था।

मेट्रो ट्रेन में खींची गई इनकी एक फोटो फेसबुक पर इतनी वायरल हुई कि उसे 76,000 से ज्यादा लोगों ने लाइक किया। इस फोटो पर चार हजार से ज्यादा लोगों ने कमेंट किए, जबकि 2600 लोगों ने इस फोटो को शेयर किया था। आईएएस अधिकारी बी चंद्रकला ने ये फोटो छह अगस्त 2018 को अपने फेसबुक वॉल पर पोस्ट की थी। साफ है कि कहीं ना कहीं सोशल मीडिया का उनकी प्रसिद्धि में बड़ा रोल रहा है। फेसबुक पर उनके फैन पेज चल रहे हैं तो उनके नाम से कई ग्रुप भी चल रहे हैं। यूट्यूब पर उनकी वीडियो की भरमार है। इसके अलावा वह खुद भी फेसबुक पर काफी सक्रिय रहती हैं।

बी चंद्रकला की महत्वपूर्ण पोस्टिंग
बी चंद्रकला अपने शुरूआती करियर में इलाहाबाद में सीडीओ (मुख्य विकास अधिकारी) और एसडीएम रहीं थीं। बुलंदशहर में डीएम की रहते हुए वह चर्चा में आयीं। इसके बाद उनकी प्रसिद्धि बढ़ती चली गई। सरकारी कार्यों में लापरवाही बरतने और भ्रष्टाचार की आशंका पर अधिकारियों व ठेकेदारों को सरेआम फटकार लगाने की उनकी छवि ने बहुत जल्द सोशल मीडिया पर उनकी दमदार छवि बना दी। इसी दौरान उनका मथुरा डीएम के पद पर तबादला कर दिया गाय। वह बिजनौल और मेरठ में भी डीएम के पद पर रह चुकी हैं। मार्च 2017 में मेरठ से उन्हें प्रतिनियुक्ति पर दिल्ली भेज दिया गया। उन्हें केंद्र सरकार में उपसचिव पेयजल बनाया गया। बाद में वह केंद्र सरकार के स्वच्छता मंत्रालय से भी जुड़ीं। फरवीर-2018 में उन्हें केंद्रीय राज्य मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति का प्राइवेट सेक्रेटरी नियुक्त कर दिया गया। मार्च 2018 में यूपी सरकार ने उन्हें अपने मूल कैडर में वापस बुला लिया। कुछ समय तक वह प्रतीक्षा सूची में रहीं। इसके बाद उन्हें लखनऊ में विशेष सचिव माध्यमिक शिक्षा बना दिया गया था।

चुनाव में भाजपा ने लगाया था पक्षपात का आरोप
2017 में यूपी के विधानसभा चुनाव के दौरान आईएएस बी चंद्रकला मेरठ में डीएम थीं। उस वक्त भाजपा ने उन पर सत्ताधारी पार्टी की मदद करने का आरोप लगाया था। भाजपा का आरोप था कि वह सपा की करीबी होने के कारण चुनाव में पक्षपात कर रही हैं। इसके साथ ही भाजपा ने चुनाव आयोग से उनके तबादले की मांग की थी। इसी चुनाव में सूबे में सत्ता परिवर्तन हो गया। इसके बाद से बी चंद्रकला साइडलाइन हो गईं।

कोर्ट में चल रहा भ्रष्टाचार का मामला
भ्रष्टाचारी अधिकारियों के खिलाफ सख्त रुख रखने वाली आईएएस बी चंद्रकला पर भी भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं। उनके खिलाफ भ्रष्टाचार का एक मामला कोर्ट में भी लंबित है। ये मामला उस वक्त का है जब बी चंद्रकला इलाहाबाद की फूलपुर तहसील में एसडीएम थीं। फूलपुर तहसील के सांवडीह गांव की रहने वाली अनंती देवी का आरोप है कि चंद्रकला ने एसडीएम रहते हुए उनके गांव की आसमा बानो से सांठगांठ कर वर्ष 2011 में उनके घर के सामने की जमीन पर कब्जा कर लिया। उन्होंने एसडीएम को तमात दस्तावेज दिए। मामला हाईकोर्ट में लंबित होने की भी जानकारी दी। बावजूद एसडीएम ने लेखपाल और कानूनगो से मनमानी रिपोर्ट लगवाकर आसमा बानों के पक्ष में फैसला कर दिया। अनंती देवी ने इस फैसले को सीजेएम कोर्ट में चुनौती दी। सीजेएम कोर्ट ने मामले में एसडीएम समेत अन्य पक्षों को नोटिस जारी किया था। इस नोटिस के खिलाफ चंद्रकला ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी, जिसे उच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया था। ये बी चंद्रकला के लिए बड़ा झटका था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)