Saturday , December 9 2023
ताज़ा खबर
होम / देश / श्रीलंका आतंकी हमले में जद-एस के पांच कार्यकर्ताओं की भी मौत

श्रीलंका आतंकी हमले में जद-एस के पांच कार्यकर्ताओं की भी मौत

श्रीलंका में रविवार को ईसाइयों के पर्व ईस्टर के मौके पर हुए भीषण आतंकी हमलों में मृतकों की संख्या 290 तक पहुंच गई है। मृतकों में कर्नाटक की सत्तारूढ़ पार्टी जनता दल-सेक्युलर (जद-एस) के पांच कार्यकर्ताओं समेत आठ भारतीय शामिल हैं। श्रीलंका सरकार के मुताबिक धमाके सात आत्मघाती हमलावरों ने किए थे। हमले का संदेह स्थानीय मुस्लिम आतंकी संगठन नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) पर है। अब तक 24 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

हालात को देखते हुए श्रीलंका सरकार ने सोमवार आधी रात से आपातकाल का एलान कर दिया।अधिकारियों ने बताया कि कोलंबो, बट्टीकलोआ व नेगोंबो में तीन चर्च व तीन होटलों में हुए धमाकों में मरने वालों में आठ भारतीय हैं। इनमें पांच जदएस के कार्यकर्ता थे। इनके नाम नारायण चंद्रा, केजी हनुमनतरैयप्पा, एम. रंगप्पा, केएम लक्ष्मीनारायण और लक्ष्मण गौड़ा रमेश बताए गए हैं।

पार्टी के दो कार्यकर्ता लापता बताए जा रहे हैं। सभी कार्यकर्ता कोलंबो स्थित सांगरी ला होटल में रुके थे। इससे पहले रविवार रात विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने तीन अन्य भारतीयों रमेश, लक्ष्मी और नारायण चंद्रशेखर की मौत की जानकारी दी थी। केरल के मुख्यमंत्री पी. विजयन ने राज्य की पीएस रासिना नामक महिला की मौत की बात भी कही है। हालांकि श्रीलंकाई अधिकारियों की ओर से इसकी पुष्टि नहीं हुई है।

सात आत्मघाती हमलावरों ने किए थे धमाके
श्रीलंका सरकार ने कहा है कि धमाकों में सात आत्मघाती हमलावर शामिल थे। सभी हमलावर श्रीलंकाई नागरिक बताए जा रहे हैं। कैबिनेट प्रवक्ता व स्वास्थ्य मंत्री रजित सेनारत्ने ने बताया कि हमले में स्थानीय मुस्लिम संगठन नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) का हाथ हो सकता है लेकिन किसी अंतरराष्ट्रीय आतंकी नेटवर्क की मदद के बिना इतना बड़ा हमला संभव नहीं। अभी तक 24 लोग गिरफ्तार किए गए हैं और उनका संबंध एक ही गुट से है।

देश में आपातकाल का एलान
आतंकी हमलों के बाद हालात को देखते हुए श्रीलंका सरकार ने सोमवार मध्यरात्रि से पूरे देश में आपातकाल का एलान कर दिया। राष्ट्रपति मैत्रिपाल सिरीसेन की अध्यक्षता में राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक में यह फैसला लिया गया। आपातकाल के दौरान आतंकवाद से निपटने के उपाय किए जाएंगे। अभिव्यक्ति की आजादी पर रोक नहीं होगी। सरकार ने मंगलवार को राष्ट्रीय शोक दिवस भी घोषित किया है।

और हमलों की भी थी तैयारी
हमले के बाद तलाशी और जांच अभियान में सोमवार सुबह कोलंबो में भंडारनायके अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के डिपार्चर टर्मिनल की ओर जाने वाले रास्ते पर छह फुट का पाइप बम मिला। श्रीलंकाई वायुसेना ने बताया कि बम को सुरक्षित तरीके से डिफ्यूज कर दिया गया।

कोलंबो में ही सेंट्रल बस स्टेशन के पास से 87 बम डेटोनेटर बरामद किए गए। पुलिस के मुताबिक 12 बम मैदान में पड़े मिले। तलाशी के दौरान 75 और बम मिले। पुलिस ने कोलंबो में उस घर का भी पता लगा लिया है जहां आत्मघाती हमलावर पिछले तीन महीने से रह रहे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)