Monday , June 17 2024
ताज़ा खबर
होम / राज्य / देवरिया / सेवा का भाव कोई इनसे सीखे-निःस्वार्थ राहगीर श्रमिको को दे रहे है भोजन पानी

देवरिया / सेवा का भाव कोई इनसे सीखे-निःस्वार्थ राहगीर श्रमिको को दे रहे है भोजन पानी

आम सभा, अमित सोनी, देवरिया : कोरोना वायरस के वैश्विक महामारी में सरकारी तंत्र के साथ समाज के सभी वर्गों व संस्थाओं द्वारा जरूरमन्दों का सेवा व सहयोग किया जा रहा है,उनमे से एक संस्था ऐसी भी है जो लंबे समय से आध्यात्मिक और सामाजिक कल्याण के प्रति समर्पित है। जिसके सेवादारों निःस्वार्थ सेवा करते रहते है, सेवादारों के इस सेवा को देख लोग प्रसंसा करते नही तक रहे है,और यही कह रहे है कि सेवा भाव कोई इनसे सीखे,इस संस्था के सभी सदस्य आपसी सहयोग से विभिन्न प्रान्तों से गृह जनपद आ रहे प्रवासी श्रमिको को भोजन पानी मास्क तथा सेनेटाइजर वितरित कर रहे है।इसमे प्रशासन का भी सहयोग सराहनीय है।

संत निरंकारी मिशन के सेवक हमेशा ही मानवता की सेवा के लिए तैयार रहते हैं ,और गुरु के आदेश को मुख्य रखकर मानवता की सेवा करने और समाज कल्याण के कामों में अपना योगदान देते रहते हैं। कोविड -19 महामारी के चलते लॉकडाउन दौरान विभिन्न प्रान्तों में फंसे प्रवासी श्रमिक अपने गृह जनपद की तरफ रुख कर लिए, सरकार के सहयोग से इन्हें इनके गन्तव्य तक पहुचाने की ब्यवस्था है। देवरिया, गोरखपुर जनपद के सीमा गौरीबाजार खरोह चौराहे के पास श्रमिको के थर्मल स्क्रिनिग व जलपान का केंद्र बनाया गया है।इस केंद्र पर प्रतिदिन हजारों श्रमिको का थर्मल स्क्रिनिग हो रहा है।

वहां तैनात उपनिरीक्षक रंजीत सिंह के सहयोग से सन्त निरकारी मिशन गौरीबाजार ब्रांच के मुखि अनिल सिंह के नेतृत्व में क्षेत्र के सभी अमरजीत, अंगद यादव, इन्द्रवदन कुमार, रोहित कुमार सिंह, नायक, अजय, रामेश्वर, आदित्य, सजोग सिंह आदि सेवादारों द्वारा यहाँ से गुजरने वाले श्रमिको को भोजन पानी वितरित किया जा रहा है। वही पास में मनरेगा के अंतर्गत सड़क बना रहे मजदूरों को जब सेवादारों ने भोजन व पानी दिया तो मजदूर खुशी से झूम उठे। और दुआए देते हुए कहे कि जिस गाव का सड़क हम बना रहे है वहा के ग्राम प्रधान तो दूर ग्रामीणों ने भी कभी पानी को नही पूछा।

ऐसी सेवा भावना सब मे आ जाय तो सारी समस्याएं अपने आप सुलझ जाएगी , मुखी अनिल सिंह ने बताया कि हम सभी सेवादार माता सुदीक्षा जी के आशीर्वाद से आपसी सहयोग से ब्यवस्था करके 19 मई से श्रमिको को भोजन पानी व मास्क दे रहे है।अभी तक लगभग 25 00 लोग की सेवा हम कर चुके है।उन्होंने बताया कि मानव सेवा ही सच्ची सेवा है इससे हमें खुशी व उनकी दुआए मिलती है।और क्या चाहिए, इस वैशिवक महामारी में हम सभी का यह कर्तव्य है कि यदि हम सक्षम है तो जरूरमन्दों का सहयोग करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)