Monday , May 20 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / दिल्लीः दुकान की खातिर बेटे ने किया पिता का कत्ल, लाश के टुकड़े को बैग में भरा

दिल्लीः दुकान की खातिर बेटे ने किया पिता का कत्ल, लाश के टुकड़े को बैग में भरा

दिल्ली में अपराध खत्म होने का नाम नहीं ले रहा और वहां पर छोटी-छोटी बातों पर मर्डर कर दिया जा रहा है. ऐसी ही एक वीभत्स और दिल दहला देने वाली घटना घटी है जहां दिल्ली के शाहदरा में एक बेटे ने अपने अपाहिज पिता का कत्ल कर लाश के छोटे-छोटे टुकड़े कर बैग में भर दिया. घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और आरोपी बेटे को बैग समेत पकड़ लिया. बेटे को हिरासत में ले लिया गया है.

शाहदरा जिले के फर्श बाजार थाना झेत्र में उस समय हड़कंप मच गया जब क्रूर बेटे ने पिता का बेहरमी से कत्ल कर दिया. पिता और पुत्र के बीच लंबे समय से प्रॉपर्टी विवाद चल रहा था. घटना के बारे में पड़ोसियों का कहना है कि परिवार के बाकी लोग मिलीभगत करके मनाली घूमने गए और बेटे अमन अग्रवाल ने मौके का फाएदा उठाकर इस वारदात को अंजाम दिया.

शव के किए 50 टुकड़े

आरोपी अमन जब अपने पिता के शरीर के टुकड़ों (करीब 50 टुकड़े) को ठिकाने लगाने जा रहा था तो मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी को रंगे हाथ पकड़ा और अमन को गिरफ्तार कर लिया. आरोपी अमन ने अपने पिता के शरीर को दो थैलियों में भर रखा था. पुलिस ने मौके से संदेश अग्रवाल के शव के टुकड़े को एकत्र किया.

परिजनों का कहना है कि बेटा अमन अपने पिता की दुकान हड़पना चाहता था और उस दुकान में साइबर नेट का काम करना चाहता था. जबकि पिता संदेश इसके लिए राजी नहीं थे क्योंकि अपनी इसी दुकान के दम पर अपने परिवार का भरण पोषण करते थे. संदेश अग्रवाल की बहन ने बताया कि उनके भाई को साजिश कर के मारा गया है और उन्होंने साथ ही आरोप लगाया कि इस साजिश में उनकी भाभी यानी संदेश अग्रवाल की बीवी भी शामिल है.

प्लान के साथ मर्डर

मृतक के भाई का कहना है कि मृतक संदेश का पूरा परिवार इस घटनाक्रम में शामिल है. आए दिन प्रॉपर्टी को लेकर उसका परिवार उन्हें परेशान करता था. कोर्ट में प्रॉपर्टी को लेकर केस भी चल रहा है और आधी प्रॉपर्टी पहले ही मृतक ने अपनी पत्नी और बच्चों के नाम कर दी थी. बावजूद इसके अपनी वह आजीविका चलाने के लिए मृतक की बची हुई दुकान भी हड़पना चाहता था और संदेश इसके पक्ष में नहीं थे. परिजनों का कहना है कि इस पूरे हत्याकांड को बेहद सोच समझ कर अंजाम दिया गया है. साथ ही भाई ने मृतक की पत्नी और अन्य बच्चों के इस हत्याकांड में शामिल होने की आशंका जताई है.

संदेश विकलांग थे और उनके परिवार में दो बेटे और एक बेटी हैं. बड़े बेटे अमन ने इस घटना को अंजाम दिया. जबकि छोटा बेटा और बेटी अपनी मां के साथ मनाली घूमने गए हुए थे. इस बीच मौका पाकर अमन ने दिव्यांग पिता की हत्या कर दी और उनकी लाश के कई टुकड़े कर डाले.

संदेश के दो और भाई हैं जो पड़ोस में ही रहते हैं और अपनी-अपनी दुकान चलाते हैं. पिता संदेश अग्रवाल ने अपनी आजीविका के लिए इस दुकान में कॉस्मेटिक का काम खोल रखा था और इससे होनी वाली कमाई से परिवार चलता था.

सोमवार रात हुई हत्या!

मृतक संदेश के परिजनों (भाई और बहन) का कहना है कि अमन की नजर उस दुकान पर थी और वह पिता से साइबर नेट के लिए दुकान की मांग कर चुका था, लेकिन पिता की ओर से ऐसा करने से इनकार कर दिया गया था. एक महीने पहले पिता की ओर से दुकान देने से मना करने के बाद उसने जान से मारने की धमकी दी थी.

संदेश के भाई-बहन का आरोप है कि उनकी हत्या सोमवार रात में ही कर दी गई थी क्योंकि मंगलवार सुबह वह कहीं दिखाई नहीं दिए. आस-पास सब जगह पता करने पर भी उनका कोई पता नहीं चला और बेटे की संदिग्ध गतिविधियों के चलते उन्हें उनके अमन पर शक हुआ.

इस बीच रात जब अमन अपने 4 दोस्तों को गाड़ी लेकर बुलाया और लाश के टुकड़ों से भरा बैग रखने लगा तो परिजनों ने रंगे हाथों से पकड़ पुलिस को सूचना दी जिसके बाद पुलिस ने आरोपी बेटे और उसके दोस्त को गाड़ी समेत हिरासत में ले लिया. बाकी 3 दोस्त मौके से फरार हो गए. थाना फर्श बाजार पुलिस इस पूरे मामले की छानबीन में जुट गई है और पता लगाने में जुट गई कि पूरे घटनाक्रम में और किस-किस का हाथ है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)