Tuesday , July 23 2024
ताज़ा खबर
होम / मध्य प्रदेश / भोपाल आर्चडायसिस के कैथोलिक ईसाईयों ने यीशु के स्वर्गोरोहण का पर्व मनाया

भोपाल आर्चडायसिस के कैथोलिक ईसाईयों ने यीशु के स्वर्गोरोहण का पर्व मनाया

आम सभा, भोपाल : पूरी दुनिया में सभी ईसाइयों द्वारा ईस्टर का पर्व मनाया गया था, जिसका अर्थ है कि यीशु उनकी मृत्यु के तीन दिन बाद मृतकों में से पुनः जी उठे थे। यह माना जाता है कि पुनरुत्थान के बाद यीशु 40 दिनों तक पृथ्वी पर रहे और विभिन्न शिष्यों को दर्शन देते हुए अपने विश्वास को मजबूत करने के साथ शांति और प्रेम के मिशन को पूरा करने का संदेश दिया। उसके बाद वे स्वर्ग में अपने पिता के पास चले गए और इसे स्वर्गोरोहण का पर्व कहा जाता है और यह पर्व पिछले रविवार को मनाया गया।

आर्चबिशप लियो काॅर्नेलियो ने कहा कि बाइबिल में संख्या 40 बहुत महत्वपूर्ण है। इससे पहले कि यीशु आधिकारिक तौर पर अपने पिता के मिशन को करने के लिए लोगों के संपर्क में आने से पूर्व उन्होने रेगिस्तान में जाकर 40 दिनों तक उपवास किया और प्रार्थना करते रहे जिसे हम चालीसा काल कहते हैं। उपवास करने और प्रार्थना करने के दौरान यीशु ने आत्मज्ञान प्राप्त किया और अपने पिता के मिषनकार्य को समझा कि उनके परम पिता उनसे क्या चाहते है। अपने पुनरुत्थान के 40 दिनों के दौरान यीशु ने अपने शिष्यों को सिखाया कि उनके राज्य का अर्थ क्या है और उनके नाम पर क्या करना है।

यीशु ने अपने शिष्यों को वचन दिया कि जब वे अपने पिता के पास जायेंगे तो अपनी पवित्र आत्मा उनपर भेजंेगे जो उन्हें मार्गदर्शन देगी कि उन्हें क्या बोलना है और उत्पीड़न और पीड़ा का सामना कैसे करना है। इसके साथ यीशु ने उपदेश देने, चंगा करने और प्रार्थना करने का अधिकार उन्हें दिया। बाद में यीशु ने माउंट आॅलिव से स्वर्ग में प्रवेश किया।

फा. मारिया स्टीफन पीआरओ ने कहा कि यीशु का अपने पिता के पास वापस जाना जरूरी था ताकि यीशु के सार्मथ्य को सभी के साथ साझा किया जा सके। वे अब स्वर्ग से लोगों की सभी मनोकामनाओं को पूरा कर रहें है। उनकी पवित्र आत्मा चर्च का मार्गदर्शन कर रही है इसलिए हमें कोई डर नहीं है। रविवार 24 मई को पेंतेकोस्त का पर्व मनाया जायेगा जब उनकी आत्मा प्रार्थना और विश्वास करने वाले सभी लोगों पर उतरती है। हम ईसाई विशेष रूप से इन दिनों के दौरान पवित्र आत्मा से यीशु की शांति और प्रेम के राज्य को फैलाने के लिए प्रार्थना करेंगे।

लाॅकडाउन के कारण लोग अपने घर पर रहकर ही विभिन्न प्रार्थनाओ में भाग ले रहें हैं इसके लिए विभिन्न चैनल माध्यमों नवचेतना और आत्मदर्षन टी.वी. आदि द्वारा आॅनलाईन सीधा प्रसारण किया जा रहा है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)