Tuesday , April 23 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / बिहार NDA में ‘नीच पॉलिटिक्‍स’: चिराग के बाद अब सुशील मोदी का भी कुशवाहा से किनारा

बिहार NDA में ‘नीच पॉलिटिक्‍स’: चिराग के बाद अब सुशील मोदी का भी कुशवाहा से किनारा

पटना ।

राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की ‘नीच पॉलिटिक्‍स’ क्‍लाइमेक्‍स पर पहुंच चुका है। राष्‍ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) सुप्रीमो व केंद्र की पीएम मोदी सरकार में मंत्री उपेंद्र कुशवाहा इस मामले में अकेले पड़ते दिख रहे हैं।

उपेंद्र कुशवाहा द्वारा मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पर अपने लिए ‘नीच’ शब्‍द के प्रयोग के आरोप के बाद राजग में आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। इस मामले में लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) संसदीय बोर्ड के अध्‍यक्ष चिराग पासवान के बाद भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने भी कुशवाहा से किनारा कर लिया है।

सुशील मोदी बोले: नीतीश ने किसी को नहीं कहा नीच 
सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा कि नीतीश कुमार ने कभी किसी नेता के लिए ‘नीच’शब्द का प्रयोग नहीं किया। सुशील मोदी ने लिखा है कि वे उस कार्यक्रम में मौजूद थे। उन्‍होंने आगे लिखा है कि जान बूझ कर कुछ लोग शहीद बनने की कोशिश कर रहें हैं , लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिलेगी।

चिराग ने कहा- कुशवाहा का चल रहा वन-वे ट्रैफिक 
इसके पहले सोमवार को ही लोजपा संसदीय बोर्ड के अध्‍यक्ष चिराग पासवान ने उपेंद्र कुशवाहा पर हमला बोलते हुए कहा कि नीतीश कुमार किसी के लिए नीच शब्‍द का इस्‍तेमाल नहीं कर सकते। कोई भी बयान देने से पहले आपस मे बैठक कर बात करनी चाहिए। चिराग ने कुशवाहा के शरद यादव से मिलने पर भी प्रतिक्रया देते हुए कहा कि राजग में रहकर विपक्ष के नेता से मिलना गलत बात है। कुशवाहा ने गलती की है और अभी उनका वन वे ट्रैफिक चल रहा है।

‘नीच पॉलिटिक्‍स’ के पीछे सियासी वर्चस्‍व की जंग 
कुशवाहा के आरोप से राजग में चल रही इस ‘नीच पॉलिटिक्‍स’ के पीछे नीतीश व कुशवाहा के बीच वर्चस्‍व की जंग है। कुशवाहा समय-समय पर नीतीश को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर भी करते रहे हैं। वे राजग में नीतीश कुमार को तरजीह मिलने से आहत हैं। राजग में नीतीश से अधिक महत्‍व पाने की सियासी कवायद के दौरान वे गठबंधन में अलग-थलग पड़ते दिख रहे हैं।

सोमवार को वे जदयू को लेकर अपनी शिकायत लेकर भाजपा सुप्रीमो अमित शाह से मिलने दिल्‍ली गए थे, लेकिन मुलाकात नहीं हो सकी। इसके भी सियासी मायने लगाए जा रहे हैं। इस बीच उनके दोनों विधायक भी नीतीश कुमार के संपर्क में हैं। अगर वे जदयू में चले गए तो कुशवाहा की स्थिति और कमजोर हो जाएगी। कुशवाहा को इसकी आशंका भी है। वे कहते हैं कि नीतीश कुमार उनकी पार्टी को तोड़ना चाहते हैं, लेकिन वे कामयाब नहीं होंगे।

मामला क्‍या है, जानिए |
विदित हो कि बीते दिनों एक कार्यक्रम के दौरान नीतीश कुमार से उपेंद्र कुशवाहा द्वारा उनके बारे में दिये गये वक्तव्य पर प्रतिक्रिया मांगी गयी तो उन्होंने कहा कि सवाल-जवाब का स्तर इतना नीचे नहीं ले जाइए। इसपर रालोसपा सुप्रीमो उपेंद्र कुशवाहा ने आरोप लगाया कि नीतीश कुमार ने उन्‍हें ‘नीच’ कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)