Saturday , May 25 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / संजलि कांड में बड़ा खुलासा, चचेरा भाई ही निकला कातिल, खुद भी दी जान

संजलि कांड में बड़ा खुलासा, चचेरा भाई ही निकला कातिल, खुद भी दी जान

उत्तर प्रदेश को दहला देने वाले आगरा के संजलि हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. हालांकि इस खुलासे के बाद पूरा मामला ही बदल गया है. पुलिस के मुताबिक इस पूरी वारदात को संजलि के चचेरे भाई योगेश ने ही अंजाम दिया था, जिसने संजलि की मौत के बाद खुद भी आत्महत्या कर ली थी. इस वारदात में उसके 2 रिश्तेदार भी शामिल थे.

पुलिस ने संजलि की हत्या का मामला सुलझाने के लिए एक दर्जन टीम लगाई थी. पुलिस ने जांच के दौरान योगेश के मोबाइल रिकॉर्ड, व्हाट्सएप चैट भी चेक किए. साथ ही योगेश के घर से कुछ लेटर भी मिले थे. पुलिस के अनुसार योगेश छात्रा को मॉडलिंग का प्रलोभन देकर परेशान करता था.

इस हत्याकांड में योगेश और उसके मामा के लड़के के अलावा एक रिश्तेदार भी शामिल था. आरोपियों ने टीवी शो क्राइम पेट्रोल देखकर वारदात की योजना की योजना बनाई थी. वे इस वारदात को अंजाम देने के लिए कई दिन से रेकी कर रहे थे. वारदात से पहले और वारदात के बाद आरोपियों ने कई बार कपड़े और जूते बदले थे. साथ ही बाइक के पीछे का हिस्सा भी एक गत्ते से ढक दिया था. ताकि कोई उन्हें पहचान न सके.

इलाके में सूत्र न होने की वजह से पुलिस को आरोपियों तक पहुंचने में परेशानी का सामना करना पड़ा. पुलिस ने बताया कि योगेश ने अपने रिश्तेदारों को 15 हजार रुपये का लालच देकर इस वारदात के लिए राजी किया था. इस वारदात से कुछ दिन पहले ही उसने संजलि के पिता पर भी हमला किया था.

पुलिस ने जांच के दौरान योगेश के मोबाइल से छात्रा के कई फ़ोटो बरामद किए हैं. पुलिस का कहना है कि योगेश मृतका से एक तरफा प्यार करता था. लेकिन छात्रा के इनकार कर देने पर उसने बदला लेने के लिए यह खौफनाक प्लान बनाया था.

पुलिस को वो सीसीटीवी फुटेज भी मिली है. जिसमें वह पेट्रोल पम्प से दो बाइक में पेट्रोल डलवाने गया था. बाद में छात्रा पर डालने के लिए बाइक से पेट्रोल निकाला गया था. वारदात के दिन जब वह स्कूल से लौट रही थी. तभी उस पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी गई थी. वारदात के वक्त योगेश ने हाथ में दस्ताने पहने थे ताकि हाथों पर कोई निशान न पड़े.

पुलिस को पता चला कि योगेश ने छात्रा को एक साइकिल भी खरीद कर दी थी. पुलिस को शक है कि घर का राज घर में ही रहे, इसलिए रिश्तेदारों को घटना में शामिल किया गया था. जिनकी पहचान आकाश और विजय के रूप में हुई है. पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है. उनकी निशानदेही पर हत्या में इस्तेमाल की गई बाइक भी बरामद कर ली गई है.

ये था पूरा मामला

आगरा के लालउ गांव में 18 दिसंबर की दोपहर भीड़ भाड़ वाली सड़क के बीचों-बीच 14 साल की संजलि नामक छात्रा पर 2 अज्ञात हमलावरों ने कोई ज्वलनशील पदार्थ फेंका, आग लगाई और फरार हो गए. वारदात के वक्त तकरीबन 2 बजे संजलि अपने स्कूल से घर की तरफ लौट रही थी.

वो सड़क 24 घंटे व्यस्त रहती है और वारदात के दिन भी वहां बहुत भीड़ थी. लेकिन हैरानी की बात है कि किसी ने भी हमलावर को नहीं देखा. संजलि हमले के बाद वहां काफी देर तक तड़पती रही. संजलि को जिंदा जला दिया गया. गंभीर हालत में उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल लाया गया. जहां उसने दम तोड़ दिया था.

वारदात के बाद पुलिस ने संजलि के चचेरे भाई से पूछताछ की. दूसरे दिन उसने भी जहर खाकर आत्महत्या कर ली. परिवार वालों का आरोप था कि पुलिस ने योगेश को टार्चर किया. इसलिए उसने ऐसा कदम उठाया. पुलिस हर पहलू से मामले की छानबीन कर रही थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)