Thursday , June 20 2024
ताज़ा खबर
होम / राजनीति / अमेठी को बदहाली में पहुंचाने वाले केरल का क्या करेंगे भला: स्मृति

अमेठी को बदहाली में पहुंचाने वाले केरल का क्या करेंगे भला: स्मृति

अमेठी। कांग्रेस अध्यक्ष और अमेठी के सांसद राहुल गांधी के केरल के वायनाड संसदीय क्षेेत्र से पर्चा भरने पर तंज कसतेे हुये केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी गुरूवार को कहा कि अमेठी का एक एक नागरिक गवाह है कि लापता सांसद ने उन्हे छल और बदहाली के सिवा और कुछ नहीं दिया।

भाजपा प्रत्याशी के तौर पर पहली बार अमेठी पहुंची स्मृति ने परशदेपुर स्थित एक स्कूल में किसान सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा आज सज्जन केरल पहुंच गए हैं। ये कलयुग है। इस धरती से परे लापता सांसद केरल जाकर पर्चा भरते हैं, वह भी उन लोगों के आशीर्वाद से जो हिंदुस्तान का बटवारा करने में भूमिका निभाते हैं।

उन्होने अमेठी के सांसद होते हुये यहां का विकास नहीं किया। लोकसभा में जाकर अमेठी के प्रश्नों को नहीं उठाया अब वो केरल जाकर वहां के लोगो के साथ क्या इंसाफ करेंगे।उन्होने खुद को अमेठी की बहन बताते हुए कहा कि बहन आशीर्वाद लेने आई है, और वो व्यक्ति जो अपने होने की दुहाई देता है आपका आशीर्वाद त्याग गया है।

श्री गांधी का नाम लिए बग़ैर उन्होने कहा 2014 में आपके समक्ष कांग्रेस के नेताओं ने संकल्प लिया था कि दस साल से अनदेखी कर रहे हैं लेकिन इस बार हमका वोट दे देयो, हम इस बार कम से कम विकास करेंगे। 2014 से लेकर 19 हो गया चाहे किसान हो, चाहे मजदूर हो, चाहे नौजवान हो। अपने को ठगा महसूस कर रहा है। गर्मी के तेवर का जिक्र करते हुये उन्होने कहा आज गर्मी बहुत ज्यादा है, लेकिन तापमान तो अमेठी में तभी बढ़ गया था, जब 2017 के चुनाव में इस लोकसभा क्षेत्र में चार विधानसभा की सीटें भाजपा ने जीती और पांचवी पर भी कांग्रेस की दाल गली नहीं।

उन्होने कहा कि लापता सांसद पिछले डेढ दशक में यहां एक खाद रैक प्वाइंट नहीं दे सके। भाजपा की सरकार आने के बाद गौरीगंज में खाद रैक प्वाइंट की व्यवस्था कराई गयी। दस साल कांग्रेस पार्टी सत्ता में थी अगर राहुल गांधी चाहते तो अमेठी बदहाल न होती, लेकिन उन्होंने जानबूझ कर ऐसा किया है। ताकि अमेठी का नागरिक हमेशा कांग्रेस नेतृत्व के अधीन रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)