Thursday , May 23 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / Jet Airways के संकट का विस्‍तारा-एयरएशिया को मिला फायदा!

Jet Airways के संकट का विस्‍तारा-एयरएशिया को मिला फायदा!

आर्थिक संट से जूझ रही एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज के लगभग दो-तिहाई विमान उड़ान नहीं भर रहे हैं. इस वजह से देश के अलग-अलग रूट पर यात्रियों को परेशानी हो रही है. इस बीच टाटा ग्रुप की एयरलाइन कंपनी एयर एशिया और विस्‍तार ने मुंबई से 11 नई उड़ानों की घोषणा की है. दरअसल, मुंबई हवाई अड्डे पर जेट एयरवेज के बेकार पड़े स्लॉट जारी किए गए थे इसके बाद विस्तारा की ओर से मुंबई-बेंगलुरु के बीच 5 नई उड़ानों की घोषणा की गई है.

इसके अलावा विस्‍तारा की ओर से मुंबई से हैदाराबाद और कोलकाता के लिए एक अतिरिक्त उड़ान का भी संचालन की जाएगी. इन उड़ानों का संचालन 16 अप्रैल से 15 जुलाई के बीच होगा. बता दें कि विस्‍तार वर्तमान में मुंबई से दिल्‍ली और अमृतसर के लिए उड़ान भरती है. बिजनेस स्‍टैंडर्ड के मुताबिक इसी तरह एयरएशिया ने मुंबई से बेंगलुरु के लिए 3 अतिरिक्त उड़ानों की घोषणा की है. इसके अलावा मुंबई से कोच्चि के लिए भी 15 अप्रैल से नई उड़ान शुरू करेगी.

जेट एयरवेज के पास बचे 30 से कम विमान

संकट में फंसी जेट एयरवेज के भविष्य को लेकर अनिश्चितता बनी हुई है और उसके 30 से कम विमान फिलहाल परिचालन में हैं. इस बीच जेट एयरवेज के कर्जदाताओं ने एयरलाइन में हिस्सेदारी बिक्री के लिए 6 अप्रैल को बोली आमंत्रित करने को कहा है. कर्जदाताओं ने यह भी कहा है कि अगर हिस्सेदारी बिक्री का ‘स्वीकार्य परिणाम’ नहीं आता है तो स्टेट बैंक की अगुवाई वाले वित्तीय संस्थानों का समूह अन्य विकल्पों पर विचार करेगा. वित्तीय संस्थानों का जेट एयरवेज के ऊपर 8,000 करोड़ रुपये से अधिक बकाया है.

बता दें कि जेट एयरवेज के निदेशक मंडल ने बीते 25 मार्च को मंजूर कर्ज समाधान योजना के तहत कर्जदाताओं ने एयरलाइन में बहुलांश हिस्सेदारी ली और उसमें 1,500 करोड़ रुपये की पूंजी डालने की घोषणा की. इसके अलावा एयरलाइन के संस्थापक और प्रवर्तक नरेश गोयल के साथ उनकी पत्नी अनीता गोयल ने निदेशक मंडल से इस्तीफा दे दिया. गोयल की हिस्सेदारी भी 51 प्रतिशत से घटकर 25 प्रतिशत पर आ गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)