Wednesday , February 28 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / दो में साफ, एक में हाफ, सात महीने में बीजेपी ने गंवा दी ये सरकारें

दो में साफ, एक में हाफ, सात महीने में बीजेपी ने गंवा दी ये सरकारें

लोकसभा चुनाव 2019 में जीत के नए कीर्तिमान स्थापित करने वाली भारतीय जनता पार्टी केंद्र में सत्ता होने के बावजूद राज्यों में कमजोर होती जा रही है. 23 मई को लोकसभा चुनाव के नतीजों ने जहां बीजेपी को इतिहास रचने का मौका दिया तो उसके बाद हुए तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव बीजेपी के लिए निराशाजनक रहे. महाराष्ट्र में जहां शिवसेना से साथ छोड़कर बीजेपी को सत्ता से आउट कर दिया तो हरियाणा में दुष्यंत चौटाला बीजेपी के तारणहार बने. लेकिन झारखंड की जनता ने बीजेपी को बड़ा झटका दिया है.

झारखंड विधानसभा की 81 सीटों के लिए पांच चरणों में मतदान कराया गया था, जिसके बाद आज (23 दिसंबर) को नतीजे आ रहे हैं. अब तक के रुझानों में झारखंड मुक्ति मोर्चा-कांग्रेस का गठबंधन अपने दम पर सरकार बनाता दिखाई दे रहा है, जबकि शुरुआत से ही बीजेपी पिछड़ती नजर आ रही है. ऐसे में अगर यही रुझान नतीजों में तब्दील होते हैं तो झारखंड से बीजेपी की सत्ता खिसकना तय है. अगर ऐसा होता है तो यह बीजेपी के लिए लोकसभा चुनाव के बाद एक और बड़ा झटका होगा.

23 मई के बाद झटके पर झटके

मई में लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद बीते अक्टूबर में महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव हुए. दोनों ही राज्यों में बीजेपी की सत्ता थी. महाराष्ट्र में बीजेपी शिवसेना के साथ मिलकर सरकार चला रही थी, जबकि हरियाणा में उसकी पूर्ण बहुमत वाली सरकार थी. लेकिन मौजूदा चुनाव के रिजल्ट बीजेपी के लिए अच्छे नहीं रहे. 281 सीटों वाले महाराष्ट्र में बीजेपी 105 सीटों पर जीत के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर तो उभरी तो लेकिन उसकी सहयोगी शिवसेना ने सीएम पद पर झटका दे दिया. शिवसेना ढाई-ढाई साल दोनों पार्टियों के सीएम की मांग पर अड़ गई. बीजेपी इसके लिए राजी नहीं हुई और शिवसेना ने कांग्रेस-एनसीपी के समर्थन से सरकार बना ली. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बन गए और इस तरह बीजेपी के हाथ से महाराष्ट्र जैसा बड़ा राज्य निकल गया.

महाराष्ट्र में जहां सहयोगी शिवसेना की बगावत बीजेपी को भारी पड़ी तो हरियाणा में जिस जननायक जनता पार्टी (JJP) के खिलाफ लड़ा, नतीजों के बाद उसी का समर्थन लेकर सत्ता बच सकी. हरियाणा में भी बीजेपी को पूर्ण बहुमत नहीं मिल सका, लिहाजा उसने जेजेपी का समर्थन लेकर दुष्यंत चौटाला को उप-मुख्यमंत्री बना दिया. इस तरह यहां बीजेपी को फुल नहीं, हाफ सरकार बनाने के लिए मजबूर होना पड़ा.

झारखंड की जनता ने कर दिया फुल आउट

हरियाणा में गठबंधन सरकार ही सही, लेकिन बीजेपी अपनी सत्ता बचाने में कामयाब रही, लेकिन झारखंड की जनता ने बीजेपी सरकार का नेतृत्व करने वाले रघुवर दास को पूरी तरह नकार दिया है. अब तक के रुझानों में जेएमएम-कांग्रेस-RJD का गठबंधन बहुमत की ओर बढ़ता दिखाई दे रहा है, जो पिछले सात महीनों में बीजेपी के लिए एक और बड़ा झटका है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)