Friday , May 24 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / उगते हुए सूर्य को अर्ध्य अर्पित कर छठ महापर्व हर्षो उल्लास से सम्पन्न

उगते हुए सूर्य को अर्ध्य अर्पित कर छठ महापर्व हर्षो उल्लास से सम्पन्न

भोपाल।

बिहार सांस्कृतिक परिषद् द्वारा आयोजित लोक आस्था का महापर्व छठ पूजा
14 नवम्बर 18 वुधवार को उगते हुए सूर्य को अर्ध्य अर्पित कर पारण के पश्चात्
हर्षो उल्लास के साथ संपन्न हुआ। परिषद् के महासचिव सतेन्द्र कुमार ने बताया
कि छठव्रती श्रद्धालु ढाई दिनों तक निर्जला उपास कर संतान सुखए विद्या एवं
बुद्धि प्राप्ति हेतु माता षष्टी की आराधना एवं भगवन सूर्य की उपासना करती
है।इस महापर्व द्वारा स्वच्छता एवं पवित्रता का संदेश दिया जाता है। सारे
प्रक्रिया बहुत ही पवित्रता के साथ किया जाता है। छठव्रती सर्वप्रथम रूनकी
झुनकी बेटी मांगती है। बेटी बचाओए बेटी पढ़ाओ का उद्देश्य पूर्ण होती है। यह
पर्व में जितनी भी कार्य है सभी प्रकृति से जुड़ने का अवसर देता है।
परिषद् के सदस्यों द्वारा स्वच्छ्ता एवं पवित्रता का सबसे बड़ा पर्व छठ पूजा
हेतु सूर्य कुंडों एवं प्रांगण की पवित्रता अक्षुण रखने हेतु छठ वर्ती
श्रद्धालु एवं भक्तो की सुविधा हेतु 28 अक्टूबर से लगातार स्वच्छता अभियान
चलाया जा रहा है जिसे आज भी जारी रखा गया।
बिहार सांस्कृतिक परिषद् मण् प्रण् शासन से पंजीकृत एवं भेलए भोपाल से संबद्ध
सबसे बड़ा सांस्कृतिक एवं गैर राजनैतिक संगठन हैं जिससे बिहार राज्य के दो लाख
निवासी जुड़े हुए हैं। परिषद् द्वारा सरस्वती देवी मंदिर प्रांगणए ईण् सेक्टरए
बरखेड़ा मे निर्मित सूर्यकुंड मे छठ महापर्व के भव्य आयोजन में 21 हजार से अधिक
श्रद्धालु छठव्रती महिलायेध् पुरुष एवं भक्तगण शामिल हुए। सतेन्द्र कुमार ने
कहा कि चार दिनों तक चलने वाला महापर्व 11 नवम्बरए 2018 को नहायदृखाय से
प्रारम्भ होकर दूसरे दिन 12 नवम्बरए 2018 को लोहण्डाध्संझत तथा तीसरे दिन 13
नवम्बर को डूबते हुए भगवान सूर्य का प्रथम अर्ध्य ;सायंद्ध एवं आज 14 नवम्बर को
उगते हुए सूर्य का द्धितीय अर्ध्य ;प्रातरूद्ध देने के पश्चात सम्पन्न सफलता
पूर्वक हुआ।
छठ स्थल पर 13 नवम्बर उपास को सायं 04 बजे से 14 नवम्बर प्रातरू 09 बजे पारण
तक छठ मईया के मधुरिम गीतध्देवी जागरण एवं भजन गायन सुर संग्राम सीजन 2 के
विजेताए महुआ टीवी एवं डी डी भारती फेम एवं प्रसिद्ध लोक गायक श्री रघुवीर शरण
श्रीवास्तव एवं बिहार के प्रसिद्ध गायक . गायिकाओ द्वारा प्रस्तुत किया गया।
गायन की प्रस्तुति भक्तो को खूब लुभाया। हजारो भक्त छठी मईया की मधुरिम गीतों
की धुन पर झूम उठे। जागरण के श्रोता दूर . दूर से आकर भक्तिरस में सराबोर हो
उठे।
छठ घाट परिसर एवं सरस्वती मंदिर को आकर्षक सजाया गया हैण् पुरे परिसर को
लाइटिंग से सुसज्जित किया गया हैण् महिला छठ व्रती श्रद्धालुओ के लिए चेंगिग
रूम की व्यवस्था एवं स्नान हेतु कुआँ के जल का सीधा लाइव सावर लगाया गया हैण्
इसबार विशेष रूप से कुंडों में नर्मदा जल का भराव किया गया था। मुख्य अतिथि के
रूप में श्री डी के ठाकुरए कार्यपालक निदेशक भेल भोपाल उपस्थित हुए। उन्होंने
अपने उद्वोधन में कहा कि छठ महापर्व में छठ वर्ती सर्व प्रथम डूबते हुए सूर्य
को प्रणाम करते है। इस आशा के साथ कि अस्त के बाद उदय निश्चित है जबकि दुनिया
उगते हुए को सलाम करता है। इसका ये सन्देश है कि दुःख . सुख में हम साथ साथ है।
छठ घाट पर भव्य छठ मेले का अयोजन किया गया गया हैण् मेले में बिहार का प्रसिद्द
व्यंजन लिट्टी . चोखाए अनारसाए तिलकुटए ठेकुआए इत्यादिए साहित्यिक एवं
धार्मिक पुस्तकेए पारंपरिक एवं लोक कला का पर्दर्शनीए बच्चों के मनोरंजन हेतु
विभिन्न प्रकार के झूलेए मिक्की माउसए स्लाइडरए सूटिंग इत्यादि आकर्षक का
केंद्र रहाण्
छठव्रती श्रद्धालुओं की सेवार्थ दूधए गर्म पानी एवं चाय की निशुल्क व्यवस्था
किया गया था।
कार्यक्रम के अंत में परिषद् द्वारा स्वछताए पर्यावरण संरक्षण एवं लोकतंत्र
में भाग लेकर वोट डालने का सपथ दिलाया गया।

कार्यक्रम में परिषद के अविनाश चंद्राए सुरुचि कुमारए सूर्य कुमार सिंहए
संजीव कुमारए संजय साहए शेक्सपियरए जयराम शर्माए सुनील सिन्हाएमनोज पाठकए आर
के प्रसादए रामनंदन सिंहए एस के चौधरीए सीताराम साहए महेश गुप्ताए एच एन
प्रसादए दिनेश सिंहए नरेंद्र सिंहए रामरतन प्रसाद सिंहए दीपक यादवए अनिल
कुमारए अयोध्या रामए मनोज रायए संतोष यादव एवं भारी संख्या में
कार्यकर्तागण सेवा में लगे रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)