Sunday , February 25 2024
ताज़ा खबर
होम / देश / IAF पायलट अभिनंदन की रिहाई के ऐलान के बाद जम्मू कश्मीर की पूर्व CM महबूबा मुफ्ती ने कही यह बात

IAF पायलट अभिनंदन की रिहाई के ऐलान के बाद जम्मू कश्मीर की पूर्व CM महबूबा मुफ्ती ने कही यह बात

नई दिल्ली: 

भारतीय पायलट अभिनंदन वर्धमान को छोड़ने के लिए पाकिस्तान तैयार हो गया है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने यह घोषणा की. इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान शुक्रवार को अभिनंदन वर्धमान को रिहा करेगा. इमरान खान ने कहा कि शांति के कदम के तौर पर पायलट की रिहाई का कदम उठाया गया है. इस खबर के बाद देशभर में खुशी की लहर है.देश के लोग इस खबर का स्वागत कर रहे हैं और साथ-साथ पाक पीएम का शुक्रिया भी अदा कर रहे हैं.

इन सबके बीच जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट किया, ‘विंग कमांडर अभिनंदन को रिहा करने का फैसला एक शानदार कदम है. इसे अलगाव के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए. यह ऐसे समय में हुआ है जब पाकिस्तान तनावपूर्ण स्थिति को और आगे बढ़ाने का फैसला कर सकता था. मैं इसे सुलह के रूप में देख रही हूं.’

इन सबके बीच कुमार विश्वास ने ट्वीट कर मीडिया मुगलों को नसीहत दी है. कुमार विश्वास ने कहा कि विंग कमांडर के स्वदेश लौटने तक अपना अनर्गल प्रलाप बंद करें. इससे पहले भी उन्होंने एक ट्वीट किया था, ‘हमने दुनिया में मुहब्बत का असर ज़िंदा किया है…!’

कुमार विश्वास ने ट्वीट किया, ‘मीडिया-मुग़लों व राजनैतिक प्रपंचियों से अनुरोध है कि कृपया विंग कमांडर के स्वदेश लौटने तक अपना अनर्गल प्रलाप बंद करें, क्रेडिट लेना या लानत देना बंद करें! सरकार व सेना समय-स्थिति के अनुसार सही-सार्थक निर्णय ले लेगी. आप सब माफ़ करो और हमारा हीरो वापस आने दो.’

वहीं, नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने भी भारतीय पायलट की रिहाई का स्वागत किया है. उमर अबदुल्ला ने ट्वीट किया, ‘यह जानकर बहुत ख़ुशी हुई कि विंग कमांडर अभिनंदन घर लौटेगा. मैं उसके वतन लौटने का इंतजार करूंगा, लेकिन मुझ इस खबर से बहुत राहत मिली है कि इमरान खान ने हमारे पायलट की रिहाई की घोषणा की है.

इससे पहले विंग कमांडर अभिनंदन  को छोड़ने के लिए पाकिस्तान तैयार हो गया है. पाक पीएम इमरान खान ने वहां की संसद में यह बात कही है. इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान कल भारतीय पायलट अभिनंदन वर्धमान को रिहा करेगा. इमरान खान ने कहा कि शांति के कदम के तौर पर पायलट की रिहाई का कदम उठाया गया है. इमरान खान ने कहा, ‘मैं घोषणा करता हूं कि बातचीत शुरू करने के लिए पहले कदम के तौर पर, पाकिस्तान हिरासत में लिए गए भारतीय वायुसेना के अधिकारी को कल (शुक्रवार) रिहा कर रहा है.’ पाकिस्तानी सांसदों ने मेजें थपथपा कर उनकी इस घोषणा का स्वागत किया. इमरान खान ने कहा कि हमारी कार्रवाई का एकमात्र मकसद हमारी क्षमता और इच्छा का प्रदर्शन करना था. हम भारत में कोई नुकसान नहीं चाहते थे, क्योंकि हम जिम्मेदार तरीके से कार्य करना चाहते हैं.

बता दें कि पाकिस्‍तान की ओर से बातचीत की पेशकश पर भरत की ओर से यह कहा गया था कि पाकिस्‍तान पहले कार्रवाई करे और पुख्‍ता सबूत पेश करे तभी बातचीत की कोई गुंजाइश बन सकती है. इन सब के बीच यह भी खबर आई कि पाकिस्‍तान के 24 लड़ाकू विमान भारत की सीमा में 10 किलोमीटर अंदर तक दाखिल हो गए थे जिन्‍हें भारतीय वायुसेना के 8 विमानों ने खदेड़ दिया.

27 फरवरी को भारत और पाकिस्‍तान दोनों तरफ जवाबी कार्रवाई को लेकर खबरें जोरों पर रहीं. पाकिस्‍तान ने एलओसी इलाके में अपने लड़ाकू विमान से घुसपैठ की कोशिश की जिसे भारतीय वायु सेना ने नाकाम कर दिया. पाकिस्‍तानी विमान का मलबा पाक अधिकृत कश्‍मीर में मिला. इस दौरान भारतीय वायुसेना को एक मिग विमान का नुकसान हो गया. भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता ने कहा कि हमारा एक पायलट लापता है. बाद में उसके पाकिस्‍तान में बंधक बनाए जाने की सूचना मिली. भरत ने पाकिस्‍तान के अधिकारियों को तलब किया और पाकिस्‍तान में कैद पायलट को सुरक्षित वापस करने को कहा.

इस बीच पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत के साथ फिर से बातचीत का राग अलापा. पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री ने कहा कि जंग हुई तो यह किसी के काबू में नहीं रहेगी. इमरान खान ने कहा कि हम भारत को बातचीत के लिए आ‍मंत्रित करते हैं.

27 फरवरी की शाम में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सेना प्रमुखों के साथ तकरीबन एक घंटे बात की. साथ में राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल भी उपस्‍थ‍ित थे. इससे पहले 14 फरवरी को पुलवामा में हुए एक आत्‍मघाती हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. हमले की जिम्‍मेदारी पाकिस्‍तान स्‍थ‍ित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद ने ली थी. भारत ने इसके अगले दिन ही सेना को खुली छूट देने की बात कही थी और पाकिस्‍तान से ‘मोस्‍ट फेवर्ड नेशन (MFN)’ दर्जा वापस ले लिया था. इसके बाद घाटी में हुए सर्च ऑपरेशन में जैश के कई आतंकवादी मारे गए थे. 26 फरवरी की रात में वायु सेना ने अपनी असैन्‍य कार्रवाई में पाकिस्‍तान के बालाकोट स्‍थ‍ित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद के कैंप को ध्‍वस्‍त कर दिया था. भारत की इस कार्रवाई का पूरी दुनिया ने समर्थन किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)