Sunday , February 25 2024
ताज़ा खबर
होम / व्यापार / वंडर सीमेंट ने मध्य प्रदेश में अपनी दूसरी विश्व स्तरीय ग्राइंडिंग यूनिट के शुभारंभ की घोषणा की

वंडर सीमेंट ने मध्य प्रदेश में अपनी दूसरी विश्व स्तरीय ग्राइंडिंग यूनिट के शुभारंभ की घोषणा की

– 2020 तक देश में 13 एमटीपीए क्षमता के निर्माण की और अग्रसर,

– मध्य प्रदेश के बदनावर मे स्थित यह ग्राइंडिंग यूनिट प्रौद्योगिकी के माध्यम से प्रतिस्पर्धात्म बढ़त हासिल करेगी

आम सभा, भोपाल : वंडर सीमेंट, देश की प्रमुख सीमेंट उत्पादक कंपनियों में से एक है जिसने बदनावर, मध्य प्रदेश में दूसरी ग्राइंडिंग यूनिट के शुभारंभ की घोषणा की। कंपनी ने अगस्त 2018 में धुले, महाराष्ट्र में अपनी पहली ग्राइंडिंग यूनिट शुरू की थी। कंपनी की योजना है कि इस यूनिट के साथ 2020 में 13 मिलियन टन प्रतिवर्ष की उत्पादन क्षमता हासिल की जाए, जिसमे हरियाणा के झज्जर की ग्राइंडिंग यूनिट भी शामिल रहेगी जिसकी नीव रखी जा चुकी है | बदनावर, मध्य प्रदेश और झज्जर हरियाणा में स्थित दोनों ग्राइंडिंग यूनिट्स में कंपनी ने रु 800 करोड़ का निवेश किया है।

नई ग्राइंडिंग यूनिट कंपनी के राजस्थान में निम्बाहेडा स्थित मुख्य प्लांट के साथ भौगोलिक रूप से नजदीक है । साथ ही इस यूनिट का सुविधाजनक स्थान पर होना नए बाज़ार तक पहुंचने में मदद करेगा, जो कंपनी के विकास एवं बिक्री के अगले चरण के लिए महत्वपूर्ण हैं। आरके समूह के तहत 2010 में शुरू हुई वंडर सीमेंट ने बहुत कम समय में एक जबरदस्त विकास यात्रा देखी है। जो की बिना समझौते के उच्चतम गुणवत्ता की सीमेंट उपलब्ध कराना, अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी के प्रति प्रतिबद्धता, विश्वास के साथ कंपनी के महत्वाकांक्षी लक्ष्य को दर्शाता है।

वंडर सीमेंट के डाइरेक्टर विवेक पाटनी ने गुणवत्ता पर जोर देते हुए कहा “वंडर सीमेंट सदैव उच्चतम-गुणवत्ता को बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं, हमें हमारी खानों से उच्चतम गुणवत्ता का लाइम स्टोन मिलता है, साथ ही तकनीकी आधारित विनिर्माण प्रक्रिया और उत्पाद का कुशल परिवहन हमारे ग्राहकों तक सर्वश्रेष्ठ सीमेंट उपलब्ध कराने में हमारी मदद करता है। लेकिन जो चीज़ हमे अनोखा बनती है वह सिर्फ उच्चतम गुणवत्ता का लाइम स्टोन ही नहीं है, बल्कि कड़े गुणवत्ता नियंत्रण हैं।

हमारी नवीनतम तकनीक, स्कैनर और फिल्टर सहित मशीनरी पर किए गए भारी निवेश से हमें अपने ग्राहकों तक विश्व स्तर के उच्च गुणवत्ता के सीमेंट को पहुचाने के हमारे संकल्प को मदद करता है। दूसरा, हमारा ध्यान अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी पर है, जिसमे सम्मिलित हैं नवाचार और दक्षता। निम्बाहेड़ा, राजस्थान में हमारी रोबोट लैब निरंतर एक स्वचालित प्रणाली के माध्यम से गुणवत्ता और वितरण सुनिश्चित करती है, इस प्रकार गुणवत्ता के परीक्षण में मानव हस्तक्षेप को हमने समाप्त किया है।

इसके अतिरिक्त, हमने जर्मन कंपनियों ThyssenKrupp और Pfeiffer Ltd., सीमेंट प्रौद्योगिकी में विश्व के अग्रणी कम्पनी के साथ कोलाब्रेशन किया है। जर्मन-मेड वर्टिकल मिल्स ग्राइंडिंग के लिए बड़े क्लिकर का इस्तेमाल करती हैं, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि गुणवत्ता और हमें जो श्रेष्ठता मिलती है वह उच्चतम स्तर की हो। नवाचार के तहत कंपनी ने डीलरों को सीमेंट के परिवहन को ट्रैक करने में मदद करने के लिए एक मोबाइल एप्लिकेशन “ई-संपर्क” भी विकसित किया है जो कारोबार में लेन-देन में सहायक है, यह एक सरल प्रक्रिया है जो उन्हें अपनी सर्विस को गति देने में मदद करती है। इसके अलावा कंपनी विभिन्न अन्य कार्यों को स्वचालित कर रही है और साथ ही अपने डॉक्यूमेंटेशन को पेपर रहित बनाने के लिए भी कार्य कर रही है।

पर्यावरणीय स्थिरता

कंपनी का अन्य ध्यान पर्यावरणीय रूप से जिम्मेदार और ऊर्जा कुशल बनना है। कंपनी की पर्यावरण नीतियों के बारे में बताते हुए, श्री शशि मोहन जोशी, वरिष्ठ अध्यक्ष, ने कहाः “सीमेंट एक ऐसी सामग्री है जो पृथ्वी के इको-सिस्टम के लिए अत्यधिक अनुकूल है और सतत विकास के लिए सबसे उपयोगी है। हमारी यूनिट में हम हर स्तर पर धूल को रिवर्स एयर बैग हाउस, ईएसपी, बैग फिल्टर और टीपीएस मशीनों जैसे नवीनतम उपकरणों की मदद से नियंत्रित करते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)