Thursday , June 20 2024
ताज़ा खबर
होम / राज्य / उत्तरप्रदेश / सभी अपने-अपने जनपदों में लॉक डाउन को सख्ती से लागू करें, सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा जाए : मुख्यमंत्री

उत्तरप्रदेश / सभी अपने-अपने जनपदों में लॉक डाउन को सख्ती से लागू करें, सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा जाए : मुख्यमंत्री

यह कोरोना के खिलाफ वैश्विक लड़ाई है, अतः इसकी सफलता के लिए हमें सारे प्रयास करने होंगे : मुख्यमंत्री

प्रदेश की सभी सीमाएं यथावत सील रहेंगी : मुख्यमंत्री

आम सभा, लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सरकारी आवास पर आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी जनपदों के जिलाधिकारियों, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों, पुलिस अधीक्षकों, सी.एम.ओ. को सम्बोधित करते हुए कहा कि वे सभी अपने-अपने जनपदों में लॉक डाउन को सख्ती से लागू करें। उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग का भी पूरा ध्यान रखा जाए। उन्होंने कहा कि अधिकांश जनपदों द्वारा 25 मार्च, 2020 से लागू किए गए लॉक डाउन के क्रियान्वयन में अच्छा कार्य किया गया है। परन्तु अभी इसमें बहुत सावधानी बरतने की आवश्यकता है।

अन्यथा लॉक डाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के माध्यम से राज्य ने कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने में जो सफलता पायी है, वह जरा सी चूक से निष्क्रिय हो जाएगी। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि जिन जनपदों में लॉक डाउन को प्रभावी ढंग से लागू किया गया, वहां कोरोना संक्रमण के कम केसेज़ रिपोर्ट हुए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा कोरोना वायरस स्प्रेड को रोकने के लिए जो कार्ययोजना बनायी गयी है, सभी जनपद उस पर कार्य करेंगे।

अभी कोरोना संक्रमण के प्रति हम सब को पूरी सावधानी बरतनी है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण के अधिकांश मामले तब्लीगी जमात के कारण फैले। तब्लीगी जमात से जुड़े लोगों को चिन्हित करते हुए उन्हें क्वारंटीन किया जाए। उनकी टेस्टिंग भी की जाए। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि अन्य राज्यों में मौजूद उत्तर प्रदेश के प्रवासी श्रमिकों को उनके गंतव्यों तक पहुंचाने से पहले इन्हें ठहराने के लिए शेल्टर होम्स की व्यवस्था कर ली जाए और प्रदेश पहुंचने वाले श्रमिकों को 14 दिन के लिए क्वारंटीन करते हुए उनकी मॉनीटरिंग की जाए। इसके उपरान्त उन्हें होम क्वारंटीन के लिए भेजा जाए।

साथ में, खाद्यान्न का पैकेट भी दिया जाए। शेल्टर होम्स में ठहराए जाने वाले श्रमिकों इत्यादि के लिए रहने-खाने की उचित व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। साथ ही, टॉयलेट, पंखे, साफ-सफाई, सैनिटाइजेशन इत्यादि की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए, ताकि उन्हें कोई दिक्कत न हो। अगले 02 माह के अंदर प्रदेश में 05 से 10 लाख श्रमिकों के लौटने की सम्भावना है। ऐसे में इनके लिए शेल्टर होम्स स्थापित कर वहां क्वारंटीन की व्यवस्था की जाए। बाहर से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति को क्वारंटीन किया जाए। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि लोग क्वारंटीन से भागने न पाएं। उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को अपने-अपने जनपदों में मौजूद दूसरे राज्यों के श्रमिकों की सूची अपर मुख्य सचिव गृह को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के सभी जनपदों में कोविड संक्रमण से प्रभावित रोगियों के इलाज के लिए एल-1, एल-2 अस्पताल स्थापित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि एल-3 अस्पताल भी प्रमुख जनपदों में स्थापित किए गए हैं। उन्होंने सभी एल-1, एल-2 अस्पतालों में प्रत्येक 04-05 बेड पर जम्बो ऑक्सीजन सिलेण्डर से मरीज को ऑक्सीजन सप्लाई की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने एल-2 अस्पतालों में प्रत्येक 04-05 बेड पर वेण्टीलेटर की व्यवस्था सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने एल-3 अस्पतालों की संख्या बढ़ाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 संक्रमण को पूरी गम्भीरता से लिया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)