Saturday , April 13 2024
ताज़ा खबर
होम / मध्य प्रदेश / पुलिस ने व्यापारी से लूट के अंतर्राज्यीय गिरोह के तीसरे आरोपी को गिरफ्तार कर माल बरामद किया

पुलिस ने व्यापारी से लूट के अंतर्राज्यीय गिरोह के तीसरे आरोपी को गिरफ्तार कर माल बरामद किया


– सरगना सहित दो अंतर्राज्यीय लुटेरों को पूर्व में गिरफ्तार कर 15 लाख रूपये कीमती लूटे जेवरात किए थे बरामद

– कई राज्यों की पुलिस को थी आरोपियों की तलाश, गिरफ्तार आरोपियों ने कई राज्यों मे लूट की वारदातों को दिया अंजाम

आम सभा, कुलदीप सक्सेना, छतरपुर। 18 दिसम्बर 23 को सराफा व्यापारी दुकान बंद कर अपने घर जा रहा था कि करीबन रात्रि के 08.35 बजे चार अज्ञात लोगों ने दो मोटरसाईकिलों से सराफा व्यापारी का पीछा कर व्यापारी के ऊपर डंडो से गंभीर चोट पहुंचा कर व्यापारी के स्कूटी मे रखे जेवरात कीमती करीबन 25 लाख रूपये के लूट कर फरार हो गये। रिपोर्ट पर अपराध कायम कर विवेचना मे लिया गया।

मामले को गंभीरता से लेते हुये पुलिस अधीक्षक छतरपुर अमित सांघी द्वारा लूट के खुलासे हेतु जिला स्तर पर निरीक्षक कमलेश साहू थाना प्रभारी सिविल लाईन के नेतृत्व मे टीमों का गठन कर प्रकरण की समीक्षा निरंतर की जा रही थी।

मामले के खुलासे हेतु गठित टीम द्वारा घटनास्थल एवं संभावित आरोपियों के भागने के मार्गो के सीसीटीव्ही फुटेज खंगाले गये तथा मामले के खुलासे हेतु कई जिले एवं राज्यों के अपराधियों की जानकारी प्राप्त की गई तथा लूट जैसे गंभीर मामले के खुलासे हेतु विशेष टीम द्वारा तकनीकी मदद से प्राप्त जानकारियों को बारीकी से एकत्र किया गया।

सीसीटीव्ही से प्राप्त फुटेज को बारीकी से खंगाला गया चुंकि घटना का समय रात्रि 8.40 बजे का होने से सीसीटीव्ही कैमरों से प्राप्त फुटेज से चेहरे स्पष्ट नही थे पंरतु हुलिया एवं तकनीक के आधार पर अपराधियों तक पहुंचने मे काफी सहायता मिली तथा फुटेज के आधार पर आरोपियों के लूट के बाद भागने वाले मार्ग का खुलासा हो जाने से अपराधियों के संभावित रहवासी क्षेत्र का अंदाजा हो गया था किन्तु यह काफी विस्तृत होने से सिविल लाईन पुलिस के लिये लूट का खुलासा करना बहुत ही चुनौतीपूर्ण था।

अपराधियों की पतारसी हेतु स्पेशल पांच सदस्यीय टीम(उनि. धर्मेन्द्र कुमार रोहित, प्र.आर. सतेन्द्र त्रिपाठी, प्र.आर. प्रह्लाद, आर. धर्मेन्द्र चतुर्वेदी एवं आर नरेश सिंह परिहार) का गठन किया गया जिसने लगातार उन संभावित क्षेत्र एवं संदिग्धों की जानकारी जिला झांसी, ललितपुर, टीकमगढ़ सागर इंदौर, दतिया आदि स्थानों पर दबिश दी गई तथा थाना ओरछा रोड की लूट के खुलासे एवं आरोपियों की गिरफ्तारी मे सिविल लाईन पुलिस की गठित टीम महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

ओरछा रोड की लूट मे शुरू मे पकड़े गये आरोपियों ने ओरछा रोड लूट मे शामिल दो-तीन आरोपियों के ऊपर फुटेज के आधार पर संदेह जाहिर किया था पंरतु उक्त आरोपियों के पकडे जाने के बाद पूछताछ एवं तकनीकी मदद तथा सीसीटीव्ही फुटेज के आधार पर ओरछा रोड की लूट मे शामिल आरोपी सिविल लाईन की शांति नगर मे हुई लूट मे शामिल नही पाये गये। 8 फरवरी 24 टीकमगढ़ जिले के पृथ्वीपुर मे एक लूट की घटना को संगठित गिरोह द्वारा अंजान दिया गया उक्त घटना शांति नगर मे हुई लूट के पैटर्न (तरीका वारदात) के आधार पर थी अतःतरीका वारदात एक जैसा होने से सिविल लाईन पुलिस का शक पृथ्वीपुर मे लूट को अंजाम देने वाले आरोपियों पर गहरा गया।

थाना सिविल लाईन की एक स्पेशल टीम ने निवाड़ी जेल जाकर जानकारी प्राप्त की और उसके आधार पर पृथ्वीपुर मे हुई लूट की घटना मे शामिल आरोपियो ने ही शांति नगर की लूट को अंजाम दिया है तत्काल पृथ्वीपुर थाना प्रभारी से सम्पर्क कर इनके संबंध मे महत्वपूर्ण जानकारी एकत्रित की गई तथा एकत्र की गई जानकारी को तकनीकी आधार से परीक्षण करने पर उपरोक्त पृथ्वीपुर लूट के 6 आरोपियों मे से 4 आरोपी शांति नगर लूट मे शामिल होना पाये गये तथा शांतिनगर लूट इन चार आरोपियों के अतिरिक्त 2 नये आरोपी भी शामिल थे।

दोनों लूटों मे सराफा व्यापारी को निशाना बनाया गया था तथा दोनों लूटों की मास्टर माइंड अतर्राजीय गिरोह का सरगना है जो एक पढ़ा लिखा शातिर चालाक अपराधी है। मुख्य आरोपी के बारे मे पता चला कि वह पृथ्वीपुर लूट से फरार है तथा अहमदाबाद (गुजरात) में रह रहा है।

तकनीकी मदद से स्पेशल टीम द्वारा उसका पीछा किया गया पंरतु शातिर अपराधी लगातार पुलिस को चकमा देता रहा किन्तु आखिरकार सिविल लाईन पुलिस द्वारा सरगना मुख्य आरोपी नि. जबलपुर को दबोच लिया गया उससे पूछताछ पर उसने बताया कि 17 दिसम्बर 23 को ग्राम उदगवां दतिया मे अपने 5 साथियों के साथ लूट करने की योजना बनाई थी तथा उदगवां दतिया से सभी 6 आरोपी लूट के इरादे से एक स्फिट् डिजायर कार एवं दो अपाचे मोटसाईकिलों से छतरपुर आये तथा पीड़ित की रैकी सह आरोपी के द्वारा घटना के 2 माह पहले ही कर ली थी।

17 दिसम्बर 23 को दो अपाचे मोटरसाईकिलों से ही पीड़ित के आंख मे मिर्च डालकर लूट करने की योजना बनाई थी किंतु भीड़ भाड़ होने से इनके मनसूबो कामयाब नहीं हो सके। 18 दिसम्बर 23 को शांति नगर की लूट दो सफेद रंग की अपाचे जिसमे दो लोग बैठें थे तथा स्विफ्ट् कार मे मास्टर माइंड सरगना अपने एक साथी के साथ बैठा था। जैसे ही पीड़ित रोज की तरह अपनी दुकान बंद कर सोने आभूषण अपनी स्कुटी की डिग्गी मे रखकर अपने घर जा रहा था की तभी मुख्य आरोपी के चार साथी दो मोटरसाईकिलों से शांतिनगर मे सराफा व्यापारी का रास्ता रोककर डंडों से मारपीट कर सिर एवं हाथ मे गंभीर चोट पहुंचाकर स्कुटी की डिग्गी से सोने के आभूषण लुट लिये तथा मुख्य आरोपी व उसके साथी ईशानगर, टीकमगढ़ पृथ्वीपुर झांसी होते हुये ग्राम उदगवां जिला दतिया पहुंचे जहां पर आरोपियों ने लूटे हुये सोने के जेवारातों को आपस मे बाँट लिया था।

मामले के फरार आरोपी निवासी बाजना जिला झांसी को गिरफ्तार किया जाकर लूट के बटबारे में मिला सोने का सामान कीमती 1 लाख रूपये बरामद किया गया है।

निर्देशन एवं मार्गदर्शन -सम्पूर्ण कार्यवाही उप महानिरीक्षक छतरपुर ललित शाक्यवार एवं पुलिस अधीक्षक अमित सांधी के निर्देशन मे तथा अति. पुलिस अधीक्षक विक्रम सिंह परिहार,नगर पुलिस अधीक्षक अमन मिश्रा के कुशल के मार्गदर्शन मे की गई।