Monday , June 17 2024
ताज़ा खबर
होम / राज्य / अयोध्या / दर्शननगर मेडिकल कालेज कोविड-19 हास्पिटल में किया गया तब्दील

अयोध्या / दर्शननगर मेडिकल कालेज कोविड-19 हास्पिटल में किया गया तब्दील

– हाईलेबल लैब के लिए किया गया चयनित

अयोध्या। दर्शननगर मेडिकल कालेज को कोविड-19 हास्पिटल में तब्दील कर दिया गया है जिसमें 100 संक्रमित रोगियों को भर्ती करने की व्यवस्था की गयी है। यही नहीं कोरोना संक्रमण जांच के लिए कोविड हास्पिटल में ही हाई लेबल लैब स्थापित करने के लिए सरकार ने चयनित भी कर लिया है। यह जानकारी कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता में जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने दिया।

उन्होंने बताया कि क्वारंटाइन 44 मरीजों के सैम्पल जांच के लिए लैब भेजा गया था सभी की जांच रिर्पोट निगेटिव पायी गयी है। उन्होंने बताया कि लेबल-1 की सुविधा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मसौधा को दी गयी है। मसौधा ब्लाक के 54 कमरे आरक्षित किये गये हैं। कोरंटाइन स्थल लेबल-2 को मेडिकल कालेज दर्शननगर में स्थापित किया गया है जहां 100 बेड की व्यवस्था की गयी है। दिल्ली निजामुद्दीन मरकज में भाग लेकर लौटने वाले 16 जमातियों को क्वारंटाइन किया गया है। पटरंगा क्षेत्र के मौलाना मोहम्मद शरीफ और उनके पुत्र मो. तारिक के नमूनो का दो बार जांच कराया गया दोनों बार परिणाम निगेटिव आया है।

उन्होंने बताया कि मेडिकल कालेज दर्शननगर में मौजूदा समय में चार वेंटीलेटर की व्यवस्था है और 6 की शीघ्र ही व्यवस्था कर दी जायेगी। जिलाधिकारी ने बताया कि प्रशासन प्रतिदिन 20 हजार मास्क बनवा रहा है जिसका वितरण आम नागरिकों में किया जायेगा। सरकार ने हर व्यक्ति के लिए मास्क अनिवार्य कर दिया है। बिना मास्क बाहर निकलने वाले लोगों के खिलाफ दण्डात्मक कार्यवाही की जायेगी।

उन्होंने बताया कि कोरोना की जांच करने वाले चिकित्सक व चिकित्सा कर्मियों के लिए पीपीई (पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट) उपलब्ध है। अभी जांच कार्य में जुटे तीन केन्द्रों में दो-दो पीपीई किट दिया गया है। मौजूदा समय में 100 किट स्टाक में उपलब्ध है तथा 2000 किट शीघ्र ही आ जायेगा जो डेढ़ माह के लिए प्रर्याप्त होगा। उन्होंने बताया कि सामाजिक दूरी बनाने के लिए बार-बार अपील की जा रही है क्योंकि कोरोना संक्रमण से बचने का सबसे उत्तम उपाय यही है। असहाय वर्ग को कोई समस्या न हो इसके लिए उनके बैंक खातों में सहयोग राशि भेजी जा चुकी ै साथ ही राशन आदि भी उपलब्ध कराया जा रहा है।

इस कार्य में नगर निगम के अलावां विभिन्न विभागों के कर्मचारियों को लगाया गया है। एक सवाल के जबाब में उन्होंने कहा कि समाचार पत्र को घर-घर तक पहुंचाने वाले हॉकरों को भी एक-एक हजार रूपया की मासिक सहायता दी जायेगी। वहीं कोविड-19 को लेकर समस्या समाधान व अन्य आवश्यकताओं के लिए स्वयंसेवी संस्था वात्सल्य डाटा सलूशन से टाईअप करके इंटीग्रेटेड हेल्पलाइन नम्बर जारी कर दिया गया है। इस नम्बर पर सभी सुविधाओं के लिए इस नंबर पर आम लोग फोन कर सकते है। हेल्प लाइन नम्बर 8929100752 हैं। कंट्रोलरूप के पहले से जारी नम्बर भी चालू रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)