Sunday , November 27 2022
ताज़ा खबर
होम / ग्लैमर / सोनी सब के ‘शुभ लाभ- आपके घर में’ में आखिरकार माँ लक्ष्मी के अंश अवतार ने जन्म लिया

सोनी सब के ‘शुभ लाभ- आपके घर में’ में आखिरकार माँ लक्ष्मी के अंश अवतार ने जन्म लिया

मुंबई : सोनी सब का शो ‘शुभ लाभ- आपके घर में’ जीवन और भक्ति पर आधारित, विचारों को झकझोरने वाली अपनी कहानी से लगातार दर्शकों का मनोरंजन कर रहा है। यह शो अपने सबसे महत्व पूर्ण पड़ावों में से एक पर है, जहाँ एक घटनाक्रम आखिरकार एक सबसे बड़ी होनी में बदल रहा है, जिसकी दर्शकों को लंबे समय से प्रतीक्षा है।

कविता सविता को पागलों के वार्ड में पहुँचाने की अपनी सबसे बड़ी योजना पर काम करती है और केशव के आदमी गलती से माया का अपहरण कर लेते हैं। लेकिन प्रकृति की सारी शक्तियाँ श्रेया के पक्ष में आ जाती हैं और वह सविता को बचा लेती है और जंगल में माया को भी गुंडों से छुड़ा लेती है। माया उस अस्पेताल में जाती है, जहाँ सविता भर्ती है, लेकिन अचानक उसे प्रसव-पीड़ा होने लगती है और वह परिवार को श्रेया के बारे में नहीं बता पाती है। इस बीच श्रेया को जंगल के बीच प्रसव-पीड़ा होती है और वहाँ उसकी मदद करने के लिये कोई नहीं है। हालांकि, स्थिति एक चमत्कापरिक मोड़ लेती है और आखिरकार वह शुभ घड़ी आती है, जब देवी लक्ष्मीं के आठ अवतार श्रेया के इर्द-गिर्द इकट्ठे हो जाते हैं और बच्चीह को जन्मह देने में उसकी मदद करते हैं। देवी लक्ष्मी की कृपा से श्रेया आखिरकार माता के अंश अवतार को जन्मच देती है!

अवतार रूपी इस छोटी-सी बच्चीप की असाधारण शक्तियाँ किस तरह से काम करेंगीᣛ?

श्रेया की भूमिका निभा रहीं तनीशा मेहता ने कहा, “कहानी का नया हिस्सास फिल्मा ने में काफी रोमांचक था, क्योंीकि घटनाक्रम को श्रेया की प्रसव-पीड़ा में बदलते हुए दिखाना बहुत चुनौतीपूर्ण था। माया को बचाने के बाद खुद जंगल में फंस जाने वाली श्रेया का चित्रण चुनौतीपूर्ण था, खासकर तब, जब उसे जंगल के बीचों-बीच प्रसव-पीड़ा होती है। हालांकि माँ लक्ष्मीे के आठ अवतार चमत्काबरी बच्चीय को सुरक्षित तरीके से जन्मं देने में श्रेया की सहायता करते हैं। ऐसा किसी के भी साथ होना सबसे दुर्लभ और अभूतपूर्व है और इस सीक्वेंंस की शूटिंग का अनुभव बेहतरीन था। आखिरकार दर्शक उस शुभ घड़ी को देखेंगे और मैं वाकई उत्साेहित हूँ कि दर्शक इसके आगे क्याि देखेंगे, क्योंखकि यह बच्चीक कहानी में नये ट्विस्टो लेकर आने वाली है।”

देवी लक्ष्मीस की भूमिका निभा रहीं छवि पांडे ने कहा, “श्रेया ने अपनी गर्भावस्थाब के अंतिम चरण के दौरान इतनी कठिनाइयों को सहने के बावजूद बिलकुल निस्वा र्थ भाव से सविता और माया की मदद की है। उसका निस्वाकर्थ और सत्यननिष्ठब स्ववभाव उन प्रमुख कारणों में से एक है, जिनके लिये देवी लक्ष्मीव ने उसे अपने अंश अवतार की माँ बनने का सम्मानन दिया है। इसलिये जब जंगल में उसे प्रसव-पीड़ा हुई, तब माता और उनके सभी आठ अवतारों ने आकर अद्भुत बच्चीष को जन्मै देने में उसकी सहायता की। मैं इस बच्चीु के साथ सविता का लगाव और आने वाले नये ट्विस्ट्सी देखने के लिये बहुत उत्सा हित हूँ।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)