Thursday , July 2 2020
ताज़ा खबर
होम / राज्य / बीइंग भगीरथ की टीम ने योग दिवस पर शहीदों की याद में बनाए गये शौर्य वन में शहीदों के नाम के पौधों के साथ योग

बीइंग भगीरथ की टीम ने योग दिवस पर शहीदों की याद में बनाए गये शौर्य वन में शहीदों के नाम के पौधों के साथ योग

आम सभा, हरिद्वार। बीइंग भगीरथ की ऊर्जावान टीम ने योग दिवस की संध्या पर गंगा वाटिका में शहीदों की याद में बनाए गये शौर्य वन में शहीदों के नाम के पौधों के साथ योग कर योग दिवस मनाया। बीइंग भगीरथ के अध्यक्ष शिखर पालीवाल ने बताया की टीम ने हर सप्ताह की भांति इस सप्ताह भी रविवार के दिन अपने अपने व्यस्त कार्यक्रम में से समय निकालकर गर्मी की परवाह ना करते हुए अपने द्वारा गोद लिए गए स्मृति वन व खुद के द्वारा स्थापित किए गए शौर्य वन जोकि पुलवामा के शहीदों की याद में लगाया गया। टीम ने वाटिका की सुंदरता में चार चांद लगाए।

साथ ही साथ अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर शौर्य वन में शहीदों के नाम के पौधों के साथ उनके समक्ष खड़े होकर योग भी किया। बीइंग भगीरथ टीम बिना किसी सरकारी सहायता के खुद ही आपसी सहयोग से इन दोनों वाटिका ओं को सुंदर बनाने में लगा हुआ है जिससे कि शहर वासियों को पूर्णतया पूर्व नियोजित वन में भ्रमण करने का अवसर मिलेगा तथा टीम द्वारा चलाई जा रही बेस्ट आउट ऑफ वेस्ट मुहिम का शानदार नमूना भी यहां देखा जा सकता है।

शिखर पालीवाल ने बताया की वैसे तो योग दिवस सभी लोग मनाते हैं मगर हमारी टीम का प्रयास यह रहता है कि ज्यादा से ज्यादा प्रकृति के समीप रह रह कर ही कोई भी कार्य किया जाए और इसी कड़ी में हमने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को प्रकृति के समीप पुलवामा शहीदों की याद में लगाए गए शौर्य वन में मनाने का निर्णय लिया। महिला विंग की सदस्य मधु भाटिया नीरज शर्मा ने बताया की टीम द्वारा जो बेस्ट आउट ऑफ वेस्ट मुहिम चलाई जा रही है वह बहुत ही प्रशंसनीय है रेखा मलिक व रुचिता उपाध्याय ने बताया की प्रकृति के बीच में शहीदों की याद में लगाए गए पौधों के समक्ष योगाभ्यास करके जो अनुभूति हुई वह शब्दों में बयान नहीं की जा सकती।

योग करने वालों में नीरज शर्मा, विनोद कुमार, संतोष साहू, ओम् पेंटर, सीमा चौहान, आशु चौहान, रमा वैश, शुभम, नमन सेनी, अमन धिमान, इशिता भाटिया, श्रेया कपूर मौजूद रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)