Saturday , August 17 2019
ताज़ा खबर
होम / देश / जम्मू-कश्मीर: पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा- किसी भी नेता की हत्या हुई तो राज्यपाल मलिक होंगे जिम्मेदार

जम्मू-कश्मीर: पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा- किसी भी नेता की हत्या हुई तो राज्यपाल मलिक होंगे जिम्मेदार

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक के बयान पर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा है कि आज के बाद जम्मू-कश्मीर में किसी भी राजनेता, सेवारत या सेवानिवृत्त नौकरशाह की हत्या होती है तो उसके लिए सत्यपाल मलिक जिम्मेदार होंगे। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने रविवार को एक विवादित बयान दिया था। उन्होंने बंदूक उठाने वाले आतंकियों से कहा कि आम लोगों और बेकसूर पुलिस वालों को क्यों मार रहे हैं। मारना ही है तो उन्हें मारो जो देश को लूट रहे हैं।

जानकारी हो कि सत्यपाल मलिक ने रविवार को कहा था कि आतंकियों को पुलिसवालों की जगह भ्रष्ट राजनेताओं और नौकरशाहों की हत्या करनी चाहिए। सत्यपाल मलिक का तर्क था कि यही लोग राज्य को लूट रहे है। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा था, ‘पुलिस अपना काम बहुत अच्छे से कर रही है लेकिन अगर एक भी जान जाती है, अगर वो आतंकी की भी क्यों न हो तो मुझे तकलीफ होती है। हम चाहते हैं कि हर कोई वापस आए। करगिल में भाषण के दौरान सत्यपाल मलिक ने यह भी कहा कि यहां के नेता ही राज्य को लूट रहे हैं, इसलिए आतंकी नेताओं को ही मारें, पुलिसवालों को नहीं। राज्यपाल के इस बयान पर उमर अब्दुल्ला भड़क गए और कह दिया कि अगर किसी भी नेता की हत्या होती है तो उसके राज्यपाल जिम्मेदार होंगे।

बता दें कि राज्यपाल सत्यपाल मलिक के बयान पर विवाद बढ़ता जा रहा है। जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा है कि आज के बाद जम्मू-कश्मीर में किसी भी राजनेता, सेवारत / सेवानिवृत्त नौकरशाह की हत्या होती है तो उसके लिए सत्यपाल मलिक जिम्मेदार होंगे।

जम्म-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक अपने बयान को लेकर विवादों में हैं। इस बयान पर नेशनल कांफ्रेस के नेता उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर सत्यपाल मलिक को घेरने की कोशिश की, तो राज्यपाल उन्हें भी लपेटने से नहीं चूके। उन्होंने कहा कि उमर वास्तव में राजनीतिक तौर पर बच्चे ही हैं। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने सोमवार को कहा कि मैने आतंकियों को सुरक्षाबलों पर हमला करने के बजाय राज्य में लूट खसूट करने वालों को निशाना बनाने के लिए यहां भ्रष्टाचार की पराकाष्ठा से हताश और निराश होकर ही कहा है। बेशक एक राज्यपाल होने के नाते मुझे इस तरह की टिप्पणी नहीं करनी चाहिए। लेकिन मेरी निजी भावना वही है जो मैने कहा है। यहां बहुत से राजनीतिक नेता और वरिष्ठ नौकरशाह गले तक भ्रष्टाचार में पूरी तरह डूबे हुए हैं।

नेशनल कांफ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला द्वारा अपने ब्यान पर किए गए टवीट का हवाला देत हुए उन्होंने कहा कि अमर अब्दुल्ला तो अभी सियासी रुप से नासमझ और अपरिपक्व हैं। वह तो एक पॉलिटिकल ज्यूवेनाइल हैं जो हर बात पर टवीट करते रहते हैं। आप उनके ट्वीट पर लोगों की प्रतिक्रिया देखें, आप समझ जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
Protected with IP Blacklist CloudIP Blacklist Cloud